कनाडा में गुजराती परिवार के 4 सदस्यों की मौत के मामले में अहमदाबाद क्राइम ब्राँच ने शुरू की पूछताछ

| Updated: January 22, 2022 8:33 pm

मारे गए सभी पीडितों का पोस्टमॉर्टम 24 जनवरी को किया जाएगा. मृतक गुजरात के कलोल के पटेल परिवार से हैं | उसका विवाह कड़ी तहसील के वडुगाव में हुआ था | मृतक में पति - पत्नी के साथ 12 वर्षीय पुत्री तथा 3 वर्षीय पुत्र का समावेश है |

कनाडा -अमेरिका सीमा पर माइनस 35 डिग्री तापमान में मरने वाले चार गुजरातियों की मौत में अहमदाबाद अपराध शाखा ने जाँच शुरू की है | सूत्रों के मुताबिक अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने गांधीनगर जिले के पलियाड गांव के एक शख्स से उक्त मामले में पूछताछ शुरू कर दी है ,आरोपी को अवैध तौर से अमेरिका में प्रवेश कराने के खेल में शामिल बताया जा रहा है | इस मामले में आधिकारिक टिप्पणी के वाइब्स ऑफ़ इंडिया ने क्राइम ब्रांच के अधिकारियों से संपर्क करने का प्रयास किया गया। हालांकि, डीसीपी के कोरोना पॉजिटिव होने तथा अन्य अधिकारियों के फ़ोन ना उठाने के कारण ,यह संभव नहीं हो सका |


गुजरात के कलोल का था मृतक पटेल परिवार
अवैध तौर पर अमेरिका की सीमा में प्रवेश के दौरान माइनस 35 डिग्री की सर्द में चारों मृतक एक ही परिवार के हैं | मृतक गुजरात के कलोल के पटेल परिवार से हैं | उसका विवाह कड़ी तहसील के वडुगाव में हुआ था | मृतक में पति – पत्नी के साथ 12 वर्षीय पुत्री तथा 3 वर्षीय पुत्र का समावेश है | चारों के शव सीमा से 9 से 12 मीटर की दूरी पर मिले थे। रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस के अनुसार, अधिकारियों को तीन लोगों के शव मिले। वे अमेरिकी सीमा से केवल 10 मीटर दूर थे। बाद में पुलिस को थोड़ी दूर पर एक और शव मिला। मारे गए सभी पीडितों का पोस्टमॉर्टम 24 जनवरी को किया जाएगा.


क्या है मामला
19 जनवरी को यूएस-कनाडा सीमा के पास मिनेसोटा राज्य में अमेरिकी अधिकारियों ने ऐसे लोगों के समुह को हिरासत में लिया जो यूएस में अवैध तरीके से प्रवेश कर रहे थे और भीषण ठंड की वजह से उनमें से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई है.
इन चार लोगों में से मैनिटोबा रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी) ने कहा कि बुधवार को चार लोगों के शव-दो वयस्क, एक किशोर और एक शिशु-दक्षिण मध्य मैनिटोबा में एमर्सन इलाके के पास अमेरिका/कनाडा सीमा के कनाडाई तरफ पाए गए.

तस्करी के आरोप में अमेरिकी नागरिक गिरफ्तार

अवैध घुसपैठ करने वाले सभी भारतीय नागरिक बताए जा रहे हैं. मारे गए सभी पीडितों का पोस्टमॉर्टम 24 जनवरी को किया जाएगा. वहीं अमेरिका ने सभी सात लोगों को अवैध तरीके से सीमा पार करने के आरोपों के आधार पर हिरासत में ले लिया है. जिनमें से एक अमेरिकी नागरिक भी शामिल है.हिरासत में लिये गये अमेरिकी नागरिक पर आरोप है कि वह कनाडा से यूएस अप्रवासियों को अवैध ढ़ंग से तस्करी करने में मदद करता था. हालांकि कड़ी ठंड की वजह से सभी लोगों को अभी अस्पताल में भर्ती किया गया है और उनका इलाज चल रहा है.

कनाडा और अमेरिका में भारतीय उच्चाधिकारी मदद में जुटे

इस दुर्घटना के बाद हरकत में आए प्रशासन ने कनाडा में भारतीय दूतावास ने अपनी एक टीम को मैनिटोबा भेजा है. जो मृतकों और उनके परिजनों को किसी भी तरीके की कांसुलर सहायता प्रदान करने के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ तालमेल कर रही है और उनके निरंतर संपर्क में भी है.

वहीं शिकागो में भारत के दूतावास ने तत्काल एक कांसुलर टीम को मिनियापोलिस भेज दिया है जो इस मामले में अमेरिकी अधिकारियों के साथ संपर्क में है और गिरफ्तार भारतीयों को कांसुलर स्तर की सहायता प्रदान करने के लिए प्रयासरत है. वाशिंगटन में भी भारतीय दूतावास के अधिकारी लगातार अमेरिकी न्याय विभाग और अमेरिकी सीमा शुल्क और सीमा पुलिस के संपर्क में बने हुए हैं और हिरासत में लिए गए सभी नागरिकों को हर संभव सहायता जारी रखने की बात कह रहे हैं.

Your email address will not be published.