अभय के. की सदाबहार कविताएँ दुनिया भर में छाईं

September 21, 2022 6:50 pm

कवि-राजनयिक अभय के (Poet-diplomat Abhay K) के लिए कविता एक आध्यात्मिक (spiritual) अभ्यासहै। ‘स्ट्रे पोएम्स’ [Stray Poem] शीर्षक से उनकी कविताओं का नवीनतम संग्रह हमें दुनिया भर में एककाव्य संग्रह को ओर ले जाता है। 2010 और 2022 के बीच लिखा गया, ‘स्ट्रे पोएम्स’ [Stray Poem] पर कोलाज मुंबई स्थित एक कविता,पोएट्रीवाला द्वारा प्रकाशित किया […]

शून्यवाद (Nihilism) क्या है?

July 7, 2022 12:43 pm

लैटिन शब्द ‘निहिल’ से व्युत्पन्न शून्यवाद (Nihilism) जिसका अर्थ है ‘कुछ नहीं’, संभवतः दर्शनशास्त्र का सबसे निराशावादी शब्द था। यह 19वीं सदी के पूरे यूरोप में सोचने की एक व्यापक शैली थी, जिसका नेतृत्व फ्रेडरिक जैकोबी, मैक्स स्टिरनर, सोरेन कीर्केगार्ड, इवान तुर्गनेव और कुछ हद तक फ्रेडरिक नीत्शे सहित प्रमुख विचारकों ने किया था, हालांकि आंदोलन से उनका संबंध जटिल […]

रायसीना हिल्स के राज खोलते वीर के तीर

July 17, 2021 3:18 pm

बताया जाता है कि अपनी हत्या से कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने तत्कालीन राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह से कहा था, “अगर उन्हें कुछ हो जाए तो बेटे राजीव गांधी को शपथ दिला दीजिएगा।” लेखक-स्तंभकार वीर सांघवी ने शीघ्र प्रकाशित होने वाली आत्मकथा- “ए रूड लाइफ-द मेमोयर्स,” (पेंगुइन वाइकिंग)- में लिखा है कि […]

Plate