डेमोक्रेसी भारत के डीएनए में – जर्मनी में बोले पीएम मोदी

| Updated: June 26, 2022 9:25 pm

पीएम मोदी ने जर्मनी में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि जो डेमोक्रेसी हमारा गौरव है, जो डेमोक्रेसी हर भारतीय के DNA में है, आज से सैंतालीस साल पहले इसी समय उस डेमोक्रेसी को बंधक बनाने, डेमोक्रेसी को कुचलने का प्रयास किया गया था. भारत के लोगों ने लोकतंत्र को कुचलने की सारी साजिशों का जवाब, लोकतांत्रिक तरीके से ही दिया है

. हम भारतीय कहीं भी रहें, अपनी डेमोक्रेसी पर गर्व करते हैं. हर हिंदुस्तानी गर्व से कहता है, भारत मदर ऑफ डेमोक्रेसी है. पीएम ने कहा कि भारत ने दिखाया है कि इतने विशाल और इतनी विविधता भरे देश में डेमोक्रेसी कितने बेहतर तरीके से डिलिवर कर रही है.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत अब तत्पर है, तैयार है, भारत अधीर है, प्रगति के लिए, विकास के लिए. भारत अधीर है, अपने सपनों के लिए, अपने सपनों की सिद्धि के लिए. आज भारत में 90 प्रतिशत व्यस्कों को वैक्सीन की दोनों डोज़ लग चुकी हैं। 95 प्रतिशत व्यस्क ऐसे हैं, जो कम से कम एक डोज़ ले चुके हैं. ये वही भारत है, जिसके बारे में कुछ लोग कह रहे थे कि सवा अरब आबादी को वैक्सीन लगाने में 10-15 साल लग जाएंगे.

जिस तरह करोड़ों भारतीयों ने मिलकर बड़े-बड़े लक्ष्य हासिल किए हैं, वो अभूतपूर्व है. आज भारत का हर गांव खुला शौचालय मुक्त है.

पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत के हर गांव तक बिजली पहुंच चुकी है. आज भारत का लगभग हर गांव, सड़क मार्ग से जुड़ चुका है. भारत के 99 प्रतिशत से ज्यादा लोगों के पास क्लीन कुकिंग के लिए गैस कनेक्शन है.

भारत का हर परिवार बैंकिंग व्यवस्था से जुड़ा हुआ है. आज भारत के हर गरीब को 5 लाख रुपए के मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध है. कोरोना के इस समय में भारत पिछले दो साल से 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त अनाज सुनिश्चित कर रहा है. इतना ही नहीं, आज भारत में औसतन हर 10 दिन में एक यूनिकॉर्न बन रहा है.

उन्होंने कहा कि आज 21वीं सदी का भारत, चौथी औद्योगिक क्रांति में, इंडस्ट्री 4.0 में, पीछे रहने वालों में नहीं बल्कि इस औद्योगिक क्रांति का नेतृत्व करने वालों में से एक है. सूचना प्रौद्योगिकी और डिजिटल प्रौद्योगिकी में भारत अपना परचम लहरा रहा है.

तीस्ता सीतलवाड़ 1 जुलाई तक पुलिस हिरासत में; गुजरात सरकार ने बनाई एसआईटी

Your email address will not be published.