D_GetFile

नहीं रहे पाकिस्तानी अभिनेता जिया मोहिउद्दीन

| Updated: February 14, 2023 4:05 pm

मशहूर अभिनेता, निर्देशक, टीवी होस्ट और हॉलीवुड में काम करने वाले पहले पाकिस्तानी जिया मोहिउद्दीन का निधन हो गया। वह 91 वर्ष के थे।

पेट में दर्द और बुखार की शिकायत के बाद उन्हें कराची के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां सर्जरी के बाद उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। वहीं सोमवार सुबह को उनका निधन हो गया।

20 जून, 1931 को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के लायलपुर ( अब फैसलाबाद) में पैदा हुए जिया मोहिउद्दीन ने लंदन में रॉयल एकेडमी ऑफ़ ड्रामेटिक आर्ट (RADA) से ट्रेनिंग ली थी। डेविड लीन द्वारा निर्देशित ब्रिटिश ऐतिहासिक नाटक “लॉरेंस ऑफ अरेबिया” (1962) के साथ मोहिद्दीन ने बड़े पर्दे पर अपनी शुरुआत की। फिर निर्देशक फ्रेड ज़िनेमैन द्वारा हॉलीवुड फिल्म “बीहोल्ड द पेल हॉर्स” (1964) में अभिनय किया।

ब्रिटिश सिनेमा और टेलीविजन में काम करने के अलावा मोहिउद्दीन ने पाकिस्तानी फिल्मों में भी काम किया। 1960 के दशक के उत्तरार्ध में पाकिस्तान लौटने पर उन्होंने बेहद लोकप्रिय “ज़िया मोहिद्दीन शो” (1969-1973) की मेजबानी की।

पाकिस्तानी अभिनेता ने 1970 की फिल्म “बॉम्बे टॉकी” में शशि कपूर के साथ हिंदी फिल्म उद्योग में भी काम किया था। मर्चेंट आइवरी प्रोडक्शंस की  फिल्म में पाकिस्तानी स्टार ने शशि कपूर के दोस्त हरि की भूमिका निभाई थी।

जनरल जिया-उल-हक के सैन्य शासन के साथ मतभेदों के बाद 1970 के दशक के अंत में कुछ समय के लिए वह ब्रिटेन में रहने के लिए लौट आए। वहां रहते हुए उन्होंने सेंट्रल टेलीविज़न (अब ITV) के लिए “हियर एंड नाउ” (1986-89) का निर्माण किया।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मशहूर एक्टर ने 2005 में कराची में नेशनल एकेडमी ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स (एनएपीए) की स्थापना की और कई उभरते कलाकारों को ट्रेंड किया। उन्होंने तीन किताबें लिखीं- “ए कैरट इज ए कैरट,” “थिएट्रिक्स” और “द गॉड ऑफ माय आइडलट्री मेमरीज एंड रिफ्लेक्शंस।” उन्होंने विभिन्न अखबारों के लिए कॉलम भी लिखे।

2012 में मोहिउद्दीन को कला के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए पाकिस्तान में दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान हिलाल-ए-इम्तियाज से सम्मानित किया गया था।

उनके निधन पर पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अली, प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और पूर्व पीएम इमरान खान समेत सभी दलों के नेताओं ने शोक जताया है। पाकिस्तान के अलावा भारत में भी सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है।

Also Read: वेरावल डॉक्टर की आत्महत्या मामले में गृह मंत्री अमित शाह से अपील

Your email address will not be published. Required fields are marked *