अहमदाबाद से संचालित फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज से पाकिस्तान, बंगलादेश दुबई समेत की गयी 43 लाख काल

| Updated: January 10, 2022 11:04 am

अहमदाबाद पुलिस( AHAMDABAD POLICE) और दूरसंचार विभाग( TELEPHONE EXCHANGE) के अधिकारियों की आँखे उस समय खुली रह गयी उन्होंने एक फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज का ( FAKE TELEPHONE EXCHANGE)पता लगाया | इस अवैध टेलीफोन एक्सचेंज से पाकिस्तान ( PAKISTAN), दुबई( DUBAI) , बांग्लादेश ( BANGLADESH) समेत कई देशो और देश के विभिन्न हिस्सों में 43 लाख से अधिक कॉल की गयी है |

तस्वीर प्रतीकात्मक

अहमदाबाद अपराध शाखा ( AHAMDABAD CRIME BRANCH) और दूरसंचार विभाग( TELEPHONE DEPARTMENT) के अधिकारियों ने शहर के बीचों-बीच सीजी रोड से अवैध टेलीफोन एक्सचेंज ( FAKE TELEPHONE EXCHANGE) का पर्दाफाश किया है, जिसने अधिकृत मार्ग को दरकिनार करते हुए अब तक 43 लाख अंतरराष्ट्रीय कॉलों की सुविधा प्रदान की हो सकती है।

अवैध टेलीफोन एक्सचेंज ( FAKE TELEPHONE EXCHANGE) , जो क्लाउड आधारित सेवाओं का उपयोग करते हुए एसआईपी ( SIP) पर आधारित है, इसका मुख्यसूत्रधार वर्तमान में दुबई में स्थित एक संयुक्त अरब अमीरात ( UAE)दूरसंचार कंपनी में कनेक्शन से जुड़ा बांग्लादेशी ‘शेरियार’ के तौर पर पहली नजर में उजागर हो रहा है |

तस्वीर प्रतीकात्मक


राष्ट्रीय सुरक्षा में गंभीर सेंधमारी के तौर पर सामने आया यह टेलीफोन एक्सचेंज एक व्यापक आपराधिक कृत्य का महज एक अंश प्रतीत हो रहा है | जिससे लगभग 43 लाख काल की गयी हैं |
उन सभी 43 लाख कॉलों की बातचीत का सत्यापन मानवीय रूप से संभव नहीं है, लेकिन वे कॉल फिरौती, जबरन वसूली, हवाला और आतंकवाद से जुड़ी अन्य आपराधिक गतिविधियों के लिए कॉल हो सकते थे। सेट अप ने पाकिस्तान, भारत और बांग्लादेश से बड़ी संख्या में कॉल की सुविधा प्रदान की है।

तस्वीर प्रतीकात्मक

मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस को तबरेज कटारिया नाम के व्यक्ति द्वारा अहमदाबाद के सरखेज इलाके में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज ( FAKE TELEPHONE EXCHANGE) संचालित किए जाने की सूचना मिलने के बाद रैकेट का पता चला। केरल के एक व्यक्ति की मदद से तबरेज़ ने खाड़ी में एक ऑपरेटर के लिए एक एसआईपी ( SIP)लाइन का इस्तेमाल किया।

तस्वीर प्रतीकात्मक

इस सिलसिले में दुबई से आए एक रफीक बाबू का नाम सामने आया है। एक्सचेंज ने उन देशों के लिए वीओआईपी कॉल को जीएसएम कॉल में बदल दिया जहां इंटरनेट टेलीफोनी को विनियमित किया जाता है।सुरक्षा खतरे और भूमिगत अर्थव्यवस्था क चिंताओं के अलावा, अवैध टेलीफोन एक्सचेंज से टेलीफोन कंपनियों को भारी नुकसान होता है। अभी तक सिर्फ 1098 SIP लाइन के कॉल डेटा का पता चला है। प्रत्येक पंक्ति एक बार में 1000 कॉल की मेजबानी कर सकती है।

Your email address will not be published.