अब हेल्थकेयर सेक्टर में उतरेंगे अडाणी, 4 अरब डॉलर के निवेश की तैयारी में

| Updated: May 2, 2022 9:11 pm

कई तरह के बिजनेस करने वाले अडाणी समूह अब विदेशी बैंकों और वैश्विक निजी इक्विटी निवेशकों के साथ हेल्थ सर्विस कारोबार में उतरने की योजना बना रहे हैं।


कहना ही होगा कि अडाणी समूह जहां भारतीय बहुराष्ट्रीय समूह कंपनी है, वहीं उसका मुख्यालय अहमदाबाद में है। इसकी स्थापना गौतम अडाणी ने 1988 में अडाणी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (पहले अडाणी एक्सपोर्ट्स लिमिटेड) के नाम से कमोडिटी ट्रेडिंग व्यवसाय के रूप में की थी। समूह के विविध व्यवसायों में बंदरगाह प्रबंधन, विद्युत ऊर्जा उत्पादन और ट्रांसमिशन, अक्षय ऊर्जा, खनन, हवाईअड्डा संचालन, प्राकृतिक गैस, खाद्य प्रसंस्करण और बुनियादी ढांचा शामिल हैं।


कंपनियों के साथ चल रही बातचीत की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने कहा कि अडाणी समूह के अध्यक्ष गौतम अडाणी भारतीय बाजार के लिए संयुक्त उद्योग या गठबंधन में स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र (हेल्थ सर्विस सेक्टर) के लिए वैश्विक बड़ी कंपनियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। इसकी घोषणा जल्द ही हो सकती है। कंपनी इसके लिए 4 अरब डॉलर तक का निवेश करने की भी योजना बना रही है। हालांकि अभी तक कंपनी की ओर से कोई घोषणा नहीं की गई है।


एक अन्य सूत्र ने कहा, “अडाणी ने स्वास्थ्य सेवा को एक बड़े अवसर के रूप में पहचाना है और वह उस स्थान को मजबूत करने के लिए उत्सुक हैं जो विभिन्न कारणों से चुनौतियों का सामना कर रहा है।”


वैसे बी मुख्य फोकस इस समय स्वास्थ्य सेवाओं पर है। सरकार ने स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में निवेश आकर्षित करने के लिए उत्पाद से जुड़े प्रोत्साहनों सहित कई नीतिगत पहलों की घोषणा की है। फार्मास्यूटिकल्स और चिकित्सा उपकरणों के घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने की योजना पर काम चल रहा है। घरेलू स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र, विशेष रूप से ऑनलाइन फार्मेसी क्षेत्र ने पिछले दो वर्षों में विलय और अधिग्रहण में उल्लेखनीय वृद्धि देखी है।

Your email address will not be published.