अदाणी ने फ्रांस के सुपरमेजर टोटल एनर्जीज के साथ मिलाया हाथ

| Updated: June 14, 2022 11:40 am

  • दुनिया का सबसे बड़ा हाइड्रोजन पारिस्थितिकी तंत्र बनायगे

अरबपति गौतम अदाणी ने अपनी सफलता में एक और आयाम जोड़ते हुए फ्रांस के ऊर्जा सुपरमेजर टोटल एनर्जीज के साथ दुनिया के सबसे बड़े हरित हाइड्रोजन पारिस्थितिकी तंत्र के निर्माण के लिए एक नया समझौता किया है । TotalEnergies इस रणनीतिक सहयोग (AEL) के हिस्से के रूप में अदाणी एंटरप्राइजेज लिमिटेड से अदानी न्यू इंडस्ट्रीज लिमिटेड (ANIL) में 25% अल्पसंख्यक हिस्सेदारी खरीदेगी।

ANIL अगले दस वर्षों में हरित हाइड्रोजन और इसके पारिस्थितिकी तंत्र पर 50 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक का निवेश करने की योजना बना रहा है। 2030 से पहले, ANIL पहले चरण में प्रति वर्ष 1 मिलियन टन की हरित हाइड्रोजन उत्पादन क्षमता बनाएगी।

अदाणी समूह के अध्यक्ष गौतम अदाणी ने कहा, ” अदाणी-टोटल एनर्जीज गठबंधन का रणनीतिक मूल्य व्यापार और महत्वाकांक्षा दोनों के लिहाज से बहुत बड़ा है।” “TotalEnergies के साथ संबंध आरएंडडी, बाजार पहुंच और अंतिम उपभोक्ता की समझ सहित दुनिया का सबसे बड़ा हरित हाइड्रोजन खिलाड़ी बनने के हमारे लक्ष्य में कई आयाम जोड़ता है।” यह हमें बाजार की मांग को आकार देने की क्षमता देता है। यही कारण है कि मैं हमारे सहयोग की निरंतरता को इतना महत्वपूर्ण मानता हूं।”

टोटल एनर्जीज के चेयरमैन और सीईओ पैट्रिक पॉयने ने कहा, “हम इस सौदे से रोमांचित हैं, जो भारत में अदाणी समूह के साथ हमारी साझेदारी को गहरा करता है और भारत के प्रचुर कम लागत वाले नवीकरणीय ऊर्जा संसाधनों के व्यावसायीकरण में योगदान देता है। “

कुल उत्पादन क्षमता के अनुपात को 25% तक बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा।

उन्होंने आगे कहा कि, प्रति वर्ष 1 मिलियन टन की यह हरित हाइड्रोजन उत्पादन क्षमता जैव ईंधन, बायोगैस, हाइड्रोजन और ई-ईंधन जैसे नए डीकार्बोनाइज्ड अणुओं के कुल ऊर्जा कुल उत्पादन क्षमता के अनुपात को 25% तक बढ़ाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा।

हरित हाइड्रोजन पर केंद्रित नए गठबंधन से भारत और दुनिया के ऊर्जा परिदृश्य में क्रांतिकारी बदलाव आने की संभावना है। अदानी और टोटल एनर्जी दोनों ऊर्जा संक्रमण और अक्षय ऊर्जा अपनाने में अग्रणी हैं, और यह सहयोगी ऊर्जा मंच दोनों फर्मों की सार्वजनिक ईएसजी प्रतिबद्धताओं को मजबूत करता है।

डेढ साल में मिशन मोड़ पर 10 लाख सरकारी भर्ती का प्रधानमंत्री ने दिया निर्देश

Your email address will not be published.