Gujarat News, Gujarati News, Latest Gujarati News, Gujarat Breaking News, Gujarat Samachar.

Latest Gujarati News, Breaking News in Gujarati, Gujarat Samachar, ગુજરાતી સમાચાર, Gujarati News Live, Gujarati News Channel, Gujarati News Today, National Gujarati News, International Gujarati News, Sports Gujarati News, Exclusive Gujarati News, Coronavirus Gujarati News, Entertainment Gujarati News, Business Gujarati News, Technology Gujarati News, Automobile Gujarati News, Elections 2022 Gujarati News, Viral Social News in Gujarati, Indian Politics News in Gujarati, Gujarati News Headlines, World News In Gujarati, Cricket News In Gujarati

एलन मस्क ने ट्विटर को कैसे गड़बड़ कर दिया, 10 पॉइंट में जानिये

| Updated: November 19, 2022 18:10

आप उनसे प्यार करें या उनसे नफरत, लेकिन उन्हें वास्तव में नजरअंदाज नहीं कर सकते। यह हैं एलन मस्क। उनके बहुचर्चित ट्विटर अधिग्रहण (takeover) के बाद से हमने टेक अरबपति का एक अलग पक्ष देखा है- उनकी हिचकिचाहट (indecisiveness)।

उनकी अनगिनत विचित्र हरकतों की काफी आलोचना (criticised) की गई है। लेकिन मस्क का तर्क है कि महंगे अधिग्रहण का कदम सही था। आखिरकार, उन्हें ‘चीफ ट्विट’ बने हुए लगभग एक महीना हो गया है। फिर भी यह स्पष्ट नहीं है कि वह वास्तव में कंपनी के साथ क्या करना चाहते हैं। यहां हम बता रहे हैं कि ट्विटर को मस्क ने कैसे मजाक बना दिया।

• टेकओवर के तुरंत बाद उन्होंने सीईओ पराग अग्रवाल, सीएफओ नेड सहगल, कानूनी मामलों और पॉलिसी चीफ विजया गड्डे सहित टॉप अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया।

• मस्क ने विविधता भरे नजरिये पर आधारित “कंटेंट मॉडरेशन काउंसिल” बनाने का प्रस्ताव दिया। उन्होंने वाइन, इंस्टा रील्स और टिकटॉक जैसे शॉर्ट-लेंथ वीडियो को फिर से चालू करने की जानकारी दी। उन्होंने बड़े लेखन (bigger writeups) के लिए लंबे-लंबे  यूट्यूब वीडियो और नोट्स को शामिल करने की भी बात कही। सही मायने में, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए एक पूरा बदलाव।

• पूरे बोर्ड में छंटनी की सबसे तीखी आलोचना हुई। सिर्फ एक दिन में उन्होंने ईमेल के जरिए कंपनी के आधे वर्कफोर्स को बर्खास्त कर दिया। कर्मचारियों से कहा गया कि वे तब तक कार्यालय न आएं, जब तक उन्हें अपनी भूमिका स्पष्ट नहीं हो जाती। अगले कुछ दिनों में कंपनी दर्जनों कर्मचारियों को वापस बुला लेगी।

• आंतरिक (internal) टीम की चेतावनी को नजरअंदाज करते हुए एलन मस्क 8 डॉलर वाली सर्विस पर रोक पर कायम रहे, जो यूजर को ब्लू टिक और अन्य सुविधाएं देती थीं। टीमों ने हवाला दिया कि कोई भी बड़ी हस्ती वेरिफाइड होने के लिए पैसे नहीं देगी।  उन्होंने फेक अकाउंट को लेकर भी चेतावनी दी थी।

• 8 नवंबर को 8 डॉलर की फीस वाली नई ट्विटर ब्लू सर्विस फिर शुरू करने की घोषणा की। मस्क ने बताया कि ट्विटर ब्लू टिक सब्सक्रिप्शन फिर शुरू किया जाएगा।

• फिर अगले ही दिन मस्क ने ट्वीट किया कि उन्होंने ट्विटर खातों के लिए नए ऑफिसियल लेबल को उसी दिन “मार” दिया, जिस दिन यह शुरू हुआ था।

• 11 नवंबर को ट्विटर ने 8 डॉलर ब्लू चेक सब्सक्रिप्शन को यह कहते हुए रोक दिया कि फेक अकाउंट बहुत बढ़ गए हैं। उधर, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के कुछ यूजर्स के “ऑफिसियल” बैज वापस ले आए।

• हालांकि, मस्क अभी भी इस पर कायम हैं कि 29 नवंबर से ब्लू टिक सब्सक्रिप्शन को चालू किया जाएगा। यह देखते हुए कि यह उनकी शुरुआती टाइमलाइन से थोड़ा ही लेट है।

• बुधवार को मस्क ने ट्विटर के कर्मचारियों को यह कहते हुए ईमेल किया: “आगे बढ़ते हुए ट्विटर 2.0 बनाने और तेजी से प्रतिस्पर्धी (competitive) दुनिया में सफल होने के लिए, हमें बेहद मजबूत होने की आवश्यकता होगी।” कर्मचारी गुरुवार तक कंपनी को बता सकते हैं कि क्या वे टिके रहना चाहते हैं। नहीं तो, सेवरेंस पैकेज ले सकते हैं और नौकरी छोड़ सकते हैं।

• इसके बाद कंपनी में सामूहिक इस्तीफे हुए। कई लोगों ने कहा कि वे इस तरह की धमकियों के आगे नहीं झुकना चाहते।

Also Read: आफताब पूनावाला कांड से सवालों में हैं डेटिंग ऐप्स

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d