मुस्लिम पत्नी के त्रास से हिन्दू पति ने की आत्महत्या

| Updated: August 28, 2022 7:27 pm

मुस्लिम पत्नी भाई के साथ मिलकर हिन्दू पति को खिलाती थी गौमांस

हिन्दू -मुसलमान प्रेम विवाह का करुण अंजाम सामने आया है। प्रेम में सब कुछ छोड़कर मुस्लिम युवती ने युवती से विवाह करने वाले रोहित को आत्महत्या करनी पडी। लेकिन रोहित की मौत के बाद पुलिस जाँच के दौरान जो खुलासे हुए वह और चौकाने वाले हैं। आरोप के मुताबिक मुस्लिम लड़की सोनम से प्रेम विवाह करने वाले रोहित को सोनम अपने भाई के मुख्तार अली के साथ मिलकर गौमांस खाने के लिए बाध्य करती थी जिससे परेशान होकर रोहित ने आत्महत्या कर ली। अपने फेसबुक पर रोहित ने सुसाइड नोट अपलोड किया था , जिसके आधार पर उधना पुलिस ने सोनम जाकिर अली और भाई मुख़्तार के खिलाफ आत्म हत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया है।

सूरत के उधना इलाके का रहने वाला रोहित सिंह एक कपड़ा मिल में डाइंग मास्टर के तौर पर काम करता था , वही वह सोनम अली नाम की एक मुस्लिम लड़की के संपर्क में आया। दोनों में दोस्ती हुई, फोन पर बात होने लगी और फिर लव मैरिज हुई। रोहित सिंह राजपूत के इस कदम से परिवार नाराज हो था । यह जानते हुए कि वह विधर्मी लड़की के साथ शादी कर रह रहा है, परिवार ने उससे दूरी बना ली। परिवार उम्मीद कर रहा था कि अगर हमने उससे संपर्क तोड़ दिया, तो वह लड़की को छोड़ कर वापस आ सकता है। लेकिन रोहित को परिवार की बजाय मौत के पास जाना पड़ा।

आत्महत्या के पहले रोहित ने फेसबुक पर सुसाइड नोट अपलोड की । जिसमे आरोप लगाया गया था कि पत्नी सोनम और उसका भाई मुख़्तार भाई ने उन्हें जान से मारने की धमकी देकर गाय का मांस खिलाया। जिसके चलते उसे आत्महत्या करनी पड़ी । यह घटना दो महीने पहले की है। मृतक के भाई को घर के एक दोस्त के जरिए खुदकुशी के बारे में पता चला। इसलिए मां ने उधना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। इसी के आधार पर पुलिस ने मृतक की पत्नी सोनम जाकिर अली और उसके भाई मुख़्तार अली (दोनों (निवासी, पटेलनगर, उधना, मूल निवासी, यूपी) के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है. रोहित को अफ़सोस था कि उसकी पत्नी सोनम यह जानती थी की वह हिन्दू है , गाय उसके लिए पूज्यनीय है फिर भी गौमांस अपने भाई के साथ मिलकर खिलाती थी।

रोहित के चाचा राजेंद्र सिंह ने कहा कि मेरे भतीजे को एक विधर्मी महिला ने प्रताड़ित किया है. इस साजिश में उसका भाई अख्तर अली भी शामिल था। एक कपड़ा मिल में साथ काम करने के बाद वह उसके जाल में फंस गया। हमने पुलिस के सामने कुछ चौकाने वाले तथ्य भी पेश किए हैं जो हमारे ध्यान में आए हैं। पुलिस काफी सहयोग कर रही है। हिंदू संगठनों ने भी काफी सहयोग किया है और इस वजह से हमें उम्मीद है कि पुलिस विधर्मी सोनम और उसके भाई अख्तर अली को जल्दी ही गिरफ्तार कर न्याय देगी।

पति के मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए 9 साल से भटक रही है आदिवासी महिला

Your email address will not be published.