सट्टा बाजार में भी बीजेपी की जीत, 135-137 सीटें जीतने का दांव

| Updated: December 6, 2022 12:55 pm

सोमवार शाम के एग्जिट पोल में गुजरात चुनाव में बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिलने का अनुमान लगाया गया। कुछ एग्जिट पोल में तो बीजेपी द्वारा 2002 के 127 सीटों के अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ने की भी भविष्यवाणी की गई। इस बीच, चुनाव नतीजों को लेकर सट्टा बाजार ने भी दांव लगाया है। उसने पहले चरण के मतदान के ठीक बाद ही भाजपा के लिए 135-137 सीटों की भविष्यवाणी कर दी थी।

सट्टेबाजी की दुनिया (betting circles) में चल रही दरों के अनुसार, भाजपा की टैली 120 से नीचे नहीं जाएगी, जो पेशकश की दरों (rates on offer) को भी दर्शाता है।

सूत्रों ने कहा कि अगर कोई सट्टेबाज भाजपा के लिए 137 सीटों पर दांव लगाता है, तो उसे दोगुनी राशि का दांव मिलता है। इसी तरह, अगर कोई खरीददार (punter) भाजपा के लिए 135 सीटों पर दांव लगाता है, तो वह पूरी राशि खो देता है। इसका मतलब है कि बीजेपी को अधिक से अधिक 136 सीटें मिलने की संभावना है।

सूत्रों ने कहा कि सटोरियों (bookies) ने भाजपा को 120 सीटें जीतने पर केवल 27 पैसे से 22 पैसे के भाव दिए हैं। इसका मतलब है कि बीजेपी के लिए 120 सीटों पर 1 रुपये का दांव लगाने वाले को 1.22 रुपये से 1.27 रुपये मिलेंगे। सूत्रों ने कहा कि सोमवार शाम के अनुमान के मुताबिक, बीजेपी को 120 से कम सीटें मिलने की उम्मीद नहीं है।

बीजेपी के लिए 140 सीटों के लिए 1.40 रुपये का भाव बताता है कि भगवा पार्टी के लिए यह उपलब्धि हासिल करना दूर की कौड़ी है।

सट्टा बाजार के सूत्रों ने कहा कि बीजेपी को 145 या अधिक सीटें मिलने की दर 3 रुपये से 2.25 रुपये तक है, जो काफी अधिक है। सीटों की किसी विशेष संख्या के लिए संभावना जितनी अधिक होती है, पार्टी द्वारा वास्तव में इसे प्राप्त करने की संभावनाएं उतनी ही कम हो जाती हैं। सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस के 29-31 सीटों पर जीतने की संभावना 1 रुपये है।  यह 8 दिसंबर को आने वाले नतीजे से मेल खा सकता है। सूत्रों ने कहा कि सटोरियों ने 40 से अधिक सीटें पाने वाली कांग्रेस के लिए 2.25 रुपये और 3.50 रुपये के बीच की दर रखी है।

जहां तक सट्टा बाजार का संबंध है, आम आदमी पार्टी (आप) कहीं भी मुकाबले में नहीं दिखती है। एक सट्टेबाज ने कहा कि सटोरियों ने आप पर 8 सीटें जीतने का 80 पैसे से 1.20 रुपये का रेट लगाया है।

सूत्रों ने कहा कि गुजरात में सट्टेबाजों ने चुनावी  नतीजों पर 200 रुपये से 300 करोड़ रुपये के बीच का दांव लगाया है।

और पढ़ें: सिंगल विंडो क्लीयरेंस के लिए पैन होगा महत्वपूर्ण

Your email address will not be published. Required fields are marked *