अडाणी पावर के शेयर एक महीने में 90% चढ़े; बाजार पूंजीकरण एक ट्रिलियन से ऊपर

| Updated: April 26, 2022 10:13 am

अडाणी पावर एक लाख करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण तक पहुंचने वाली अडाणी समूह की छठी कंपनी बन गई है। बाजार पूंजीकरण में वृद्धि सोमवार को स्टॉक के 5 प्रतिशत अंक के उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद हुई। लार्ज कैप स्टॉक बीएसई पर 259.20 रुपये के पिछले बंद से 5% बढ़कर 272.15 रुपये हो गया है।

कंपनी का बाजार पूंजीकरण 1.04 लाख करोड़ रुपये था। दोपहर के सत्र में कंपनी के 51.92 लाख शेयर बदले, जिससे 141.06 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ।

स्टॉक एक साल में 210 प्रतिशत बढ़ा है और 2022 में 173 प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद है। अडाणी पावर का शेयर अपने 5 दिन, 20 दिन, 50 दिन, 100 दिन और 200 दिन चलती औसत से ऊपर कारोबार कर रहा है। एक महीने में स्टॉक 90% बढ़ गया है। पिछले चार सत्रों में स्टॉक में 17% की तेजी आई है। अडाणी पावर को शुक्रवार को बाजार पूंजीकरण के मामले में शीर्ष 50 सबसे मूल्यवान कंपनियों की सूची में जोड़ा गया था।

हाल के सत्र में कंपनी का बाजार पूंजीकरण 99,972 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। शुक्रवार को शेयर 259.20 रुपये के उच्च स्तर पर पहुंच गया। अडाणी पावर ने 23 मार्च को घोषणा की थी कि उसके निदेशक मंडल ने अपनी छह पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनियों के साथ विलय के लिए एक समामेलन योजना को मंजूरी दी है।

एमके ग्लोबल ने पिछले हफ्ते भविष्यवाणी की थी कि बैंक ऑफ बड़ौदा, टाटा एलेक्सी, एनएमडीसी, अदानी पावर और एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक को एमएससीआई (मॉर्गन स्टेनली कैपिटल इंटरनेशनल) इंडिया स्टैंडर्ड इंडेक्स में शामिल किया जाएगा। एमके के अनुमान के मुताबिक, इन पांच शेयरों को शामिल करने से कुल 485 मिलियन डॉलर की आमद हो सकती है।

Your email address will not be published.