पीएम मोदी के जम्मू दौरे के पहले विस्फोट , जाँच में जुटी पुलिस

| Updated: April 24, 2022 12:32 pm

पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जांच शुरू कर दी है। “हमें विस्फोट की घटना के बारे में सूचित किया गया था। हम मामले में और जानकारी मांग रहे हैं क्योंकि हमने जांच शुरू कर दी है।" एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने जाँच के दौरान किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आज जम्मू-कश्मीर के निर्धारित दौरे से कुछ घंटे पहले ललियाना गांव में धमाका हुआ है. जहां पीएम मोदी की रैली होगी, वहां से विस्फोट वाली जगह महज 12 किमी दूर है।

पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जांच शुरू कर दी है। “हमें विस्फोट की घटना के बारे में सूचित किया गया था। हम मामले में और जानकारी मांग रहे हैं क्योंकि हमने जांच शुरू कर दी है।” एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने जाँच के दौरान किया।

सूत्रों ने हालांकि कहा कि विस्फोट के आतंक से संबंधित होने की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा कि यह उल्कापिंड या बिजली हो सकती है।

पीएम मोदी के आज लम्बे समय बाद जम्मू के दौरे पर हैं। रैली जम्मू संभाग के सांबा जिले की पल्ली पंचायत में होगी. वह राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर देश भर में ग्राम सभाओं को संबोधित करेंगे।

इसके अलावा, पीएम मोदी जम्मू-कश्मीर में 20,000 करोड़ रुपये से अधिक की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे। कुछ परियोजनाएं बनिहाल-काजीगुंड सड़क सुरंग, दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेसवे और रतले और क्वार जलविधुत परियोजनाएं हैं।सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के तहत आने वाले दिल्ली-अमृतसर-कटरा तक के इस कॉरिडोर का निर्माण एनएचएआई कर रहा है।

दिल्ली से अमृतसर की दूरी महज 5 घंटे में पूरी होगी

कुल 670 किलोमीटर लंबे इस कॉरिडोर में से 580 किलोमीटर लंबे ग्रीनफील्ड कॉरिडोर का वर्क अवॉर्ड हो गया है। 93 किलोमीटर पर काम चल रहा है। अभी तक दिल्ली से कटरा तक जाने में 12 घंटे का समय लगता था लेकिन इस कॉरिडोर के जरिए 7 घंटे में ही पहुंच जाएंगे।इस ग्रीन कॉरिडोर से दिल्ली से अमृतसर की दूरी महज 5 घंटे में पूरी होगी, अभी 8 घंटे लगते हैं। दिल्ली से कटरा 12 घंटे की बजाय 7 घंटें में पहुंचेंगे।

अभी इस एक्सप्रेस वे 4 लेन होंगी बाद में इन्हें बढ़ाकर 8 लेन कर दिया जाएगा। राज्यों और बड़े शहरों के लिए इसमें 35 इंटरचेंज बनेंगे। रावी, सतलुज और व्यास नदियों पर बड़े पुल बनाए जाएंगे। इस कॉरिडोर पर 15 लाख पेड़ लगाए जाएंगे।

इससे सालाना 3 करोड़ किलो कार्बन डाइऑक्साइड की कमी आएगी। कॉरिडोर पर 40 जनसुविधाएं दी जाएंगी। जहां पेट्रोल पंप, अस्पताल, पार्किंग, कमर्शल स्पेस, फूटकोर्ट, ऑटो वर्कशॉप, रिसोर्ट और डोरमेट्री बनाई जाएंगी।

सिविल लिबर्टी समूहों ने की मेवाणी की तत्काल रिहाई की मांग

Your email address will not be published.