500 रुपये प्रति रात में उत्तराखंड ने पेश किया असली ‘जेल का अनुभव’

| Updated: September 28, 2022 5:58 pm

यदि आपका ज्योतिषी भविष्यवाणी करता है कि आपकी कुंडली में ग्रहों की स्थिति अच्छी नहीं है और आपको जेल जाने की संभावना है, तो चिंता न करें। इसका उपाय आपके हाथ में है। उत्तराखंड (Uttarakhand) के हल्द्वानी (Haldwani) में जेल प्रशासन लोगों को “बुरे कर्म” से बचाने में मदद करने के लिए एक अनूठा विचार लेकर आया है – जेल में प्रति रात 500 रुपये के मामूली शुल्क पर।

जेल के उप जेल अधीक्षक सतीश सुखिजा (Satish Sukhija) ने बताया, हल्द्वानी जेल (Haldwani prison) 1903 में बनाया गया था और इसके एक हिस्से में छह स्टाफ क्वार्टर के साथ पुराने शस्त्रागार शामिल हैं, जो कि छोड़ दिया गया है, वर्तमान में “जेल के आगंतुकों” की व्यवस्था के लिए इसे तैयार किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि, अक्सर वरिष्ठ अधिकारियों से “अनुशंसित व्यक्तियों” को जेल की बैरक में कुछ घंटे बिताने की अनुमति देने के “आदेश” मिलते हैं। इन “पर्यटक कैदियों” को जेल की वर्दी और जेल की रसोई में बना खाना दिया जाता है।

ज्योतिषियों ने भी दी एक रात जेल में रहने की सलाह

उत्तराखंड (Uttarakhand) की हल्द्वानी जेल (Haldwani prison) में परिसर के एक अलग हिस्से को पर्यटकों के लिए आवास के रूप में बदलने के लिए काम चल रहा है, जिसे वास्तविक जेल की तरह बनाने का प्रयास किया जा रहा है. जिन लोगों को ज्योतिषियों ने उनके कुंडली में “बंधन योग” बता कर जेल में समय बिताने की सलाह दी है, या कारावास की भविष्यवाणी की है वह यहां समय बिता सकते हैं।

“ऐसे सभी मामले मुख्य रूप से उन लोगों के हैं जिनके ज्योतिषी भविष्यवाणी करते हैं कि उनकी कुंडली में ग्रहों की स्थिति के अनुसार जेल की सजा अनिवार्य है। हमारे पास जेल के अंदर एक अलग हिस्सा है जिसे 500 रुपये के मामूली शुल्क पर एक रात के लिए ऐसे ‘कैदियों’ को समायोजित करने के लिए एक डमी जेल के रूप में विकसित किया जा सकता है,” जेल अधिकारी ने कहा।

शहर के एक ज्योतिषी, मृत्युंजय ओझा ने कहा, “जब शनि और मंगल सहित तीन खगोलीय पिंड किसी की कुंडली या जन्म कुंडली में प्रतिकूल स्थिति में होते हैं, तो यह एक समीकरण बन जाता है जो भविष्यवाणी करता है कि व्यक्ति को कारावास से गुजरना पड़ सकता है। ऐसी स्थिति में, हम आमतौर पर जेल में एक रात बिताने और कैदियों का भोजन उपलब्ध कराने की सलाह देते हैं ताकि ग्रहों की स्थिति के बुरे प्रभावों को दूर किया जा सके।”

“मैंने पहले भी इस मामले के संबंध में एक प्रस्ताव जेल महानिरीक्षक को दिया था। उन्होंने (पुष्पक ज्योति) न केवल इसकी सराहना की बल्कि मुझसे एक विस्तृत परियोजना रिपोर्ट भेजने के लिए भी कहा।” सुखिजा ने कहा।

Your email address will not be published. Required fields are marked *