गुजरात भाजपा -मोदी का चेहरा लाभार्थी और संगठन के बल उतरेगी मैदान पर

| Updated: May 16, 2022 10:17 pm

  • लगातार होंगे मोदी -शाह और नड्डा के दौरे
  • मोर्चा -सेल को मिली विशेष जिम्मेदारी
  • कमजोर सीटों के लिए बनी खास रणनीति

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की उपस्थिति में ,गुजरात भाजपा का दो दिवसीय चिंतन शिविर, सोमवार को संपन्न हुआ, जिसमे 2022 के विधानसभा चुनाव का ब्लू प्रिंट तैयार किया गया। जिसके मुताबिक “केंद्र और स्थानीय सरकारों की उपलब्धियों के आधार पर राज्य विधानसभा में मतदाताओं के पास जाने का फैसला किया, अनुच्छेद 370, अयोध्या में राम मंदिर और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के व्यापक व्यक्तित्व के साथ लाभार्थी और संगठन चुनाव का आधार होंगे।

कैन्स वीले में आयोजित दो दिवसीय सत्र के बाद सोमवार शाम को एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए, राज्य सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री जीतूभाई वाघाणी और गुजरात पार्टी के महासचिव प्रदीप सिंह वाघेला ने कहा कि मोदी के अलावा अनुच्छेद 370, तीन तलाक, को खत्म करना है. सरकार का समग्र प्रदर्शन भाजपा के प्रचार का विषय होगा।

सत्र में उन सीटों के लिए रणनीति पर भी चर्चा हुई, जिन्हें पार्टी के लिए कमजोर माना जाता है और यह सुनिश्चित करता है कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के सभी लाभार्थी राज्य के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचें और वह लाभार्थी वोट में तब्दील हो।

हार्दिक पटेल के बहुप्रतीक्षित प्रवेश के बारे में पूछे गए सवालों पर भाजपा नेताओं ने चुप्पी साध ली।

भाजपा में पाटीदार नेता और कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल के बहुप्रतीक्षित प्रवेश के बारे में पूछे गए सवालों पर भाजपा नेताओं ने चुप्पी साध ली। उन्होंने गुजरात में सभी 182 विधानसभा सीटों पर जीत हासिल करने या कांग्रेस के 149 सीटों के 1985 के रिकॉर्ड को तोड़ने के पार्टी के पहले के दावों के बारे में भी ध्यान नहीं दिया।

आम आदमी पार्टी के प्रभाव के बारे में पूछे जाने पर, वाघाणी और वाघेला ने कहा, हमने अपने पहलुओं पर चर्चा की है दूसरे पहलुओं पर नहीं , हम अपनी ताकत पर चुनाव लड़ेंगे।

राज्य विधानसभा चुनाव में 150 दिन शेष हैं, रोडमैप तय करने के लिए विभिन्न विषयों पर दो दिन की चर्चा और विचार-विमर्श हुआ। केंद्रीय गृह मंत्री एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने पूरे दो दिन शिरकत कर चुनाव के ब्लू प्रिंट को अंतिम रूप दिया । आगामी पांच माह की रणनीति व योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए इस विचार बैठक में विभिन्न विषयों पर विचार व्यक्त किए गए, जिसमें प्रदेश भाजपा का शीर्ष नेतृत्व भी मौजूद रहा।

इस दो दिवसीय चिंतन बैठक के दौरान निम्न विषयों पर चर्चा की गयी –

  • (1) राज्य में राजनीतिक स्थिति और उसमें भाजपा की तैयारी
  • (2) राज्य के विभिन्न चुनाव परिणामों का विश्लेषण
  • (2) विभिन्न मोर्चों के कार्यक्रम की गतिविधियों को तेज कर उसके सहारे समाज के अलग अलग तबके तक पहुंचना
  • (4) सरकार (केंद्र और राज्य) की उपलब्धियों को लोगों तक पहुँचाने के कार्यक्रम, और लाभार्थियों से सीधा संवाद
  • (5) प्रदेश भाजपा संगठन के अगले माह में होने वाले कार्यक्रम एवं कार्यकर्ताओं का योगदान

गुजरात में विचारधारा का चुनाव होता है -अमित शाह

केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने कहा कि 1990 के बाद से भाजपा ने प्रतिकूल और कठिन परिस्थितियों में भी असंभव प्रतीत होने वाले परिणाम प्राप्त किए हैं। 2022 का चुनाव जीतने या हारने के बारे में नहीं है। अगर यह चुनाव दूसरे राज्य का है तो वह राज्य तक सीमित होता लेकिन गुजरात का चुनाव विचारधारा से जुड़ा है। 1985 में सिर्फ दो सीटें थीं, लेकिन 1997 में अहमदाबाद कॉर्पोरेशन के साथ जीत की शुरुआत हुई और मायूस कार्यकर्ता बाहर आ गए। गुजरात को तभी से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र भाई मोदी जी का नेतृत्व मिल रहा है, चुनाव की बुनियाद विचारधारा है। गुजरात का चुनाव विचारधारा के मुद्दे पर लड़ा जायेगा , यह चुनाव भविष्य की नीव डालेगा।

2024 की भव्य जीत की नीव गुजरात से पड़ेगी

भाजपा 1990 से लगातार विजयी रही है और यह जीत को अगले स्तर तक ले जाने का चुनाव है। गुजरात में नरेंद्र मोदी के 2001 से 2014 के दौरान चौतरफा, सर्व-समावेशी, विकास के कारण 2014 में देश में भाजपा की सरकार बनी। भाजपा की विचारधारा, राष्ट्रीय सुरक्षा ,विकास की प्रयोगशाला, अब गुजरात में भारी जीत का लक्ष्य है। गुजरात भाजपा में अपार संभावनाएं हैं।

भाजपा और कार्यकर्ताओं को इसे उचित योजना के साथ जमीन पर उतारना होगा। लक्ष्य 2024 की प्रचंड जीत और गुजरात में प्रचंड जीत से सफल प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जी को तीसरी बार फिर से देश का प्रधानमंत्री बनाना ,2024 लोकसभा चुनाव की नीव होगी।

गुजरात भाजपा ने पूरे देश में नई व्यवस्थाएं बनाई हैं, परंपरा और कार्य संस्कृति को बनाए रखा गया है। कांग्रेस देश के सियासी नक्शे से जा चुकी है। हमें यह भी सुनिश्चित करना होगा कि सामाजिक-राजनीतिक बारीकियों वाले लोग गुजरात को नुकसान न पहुंचाएं।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 से एक अग्रणी भारत के निर्माण का कार्य किया है और कई मुद्दों में सफलता हासिल की है। देश अब एक नए विचार की ओर बढ़ रहा है जिसे गुजरात भी ताकत और गति देगा। पृष्ठ समिति का उचित उपयोग करें। नेतृत्व की लोकप्रियता ने विकास को गति दी है जबकि हमारी सारी मेहनत से जबरदस्त जीत हासिल होगी।

हम लोगों ने पार्टी को दिया, पार्टी से कुछ नहीं लिया : “नाराज” हार्दिक

Your email address will not be published.