मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने 7 करोड़ रुपये से अधिक के नकली नोटों किये बरामद; सात आरोपी को किया गिरफ्तार

| Updated: January 27, 2022 8:55 pm

हाल के दिनों में शहर से नकली नोटों की एक बड़ी बरामदगी में से एक में, शहर की अपराध शाखा ने मंगलवार को दहिसर से कुल 7 करोड़ रुपये की नकली भारतीय मुद्रा जब्त की। पुलिस ने कहा कि अब तक सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है, दिल्ली में नोट छापे जा चुके हैं और आरोपी उन्हें बाजार में फैलाने की कोशिश कर रहे थे।

क्राइम ब्रांच यूनिट 11 के सिपाहियों को एक विशेष सूचना मिली कि एक कैब से यात्रा कर रहे चार लोग मंगलवार की रात दहिसर चेक नाका (टोल प्लाजा) को पार करेंगे, उन्होंने जाल बिछाया और रात करीब 8 बजे कार को रोक लिया। कार से हमें ₹2000 के अंकित मूल्य के नकली नोटों के कुल 250 बंडल बरामद हुए, कुल 25000 नकली नोटों की कीमत ₹5 करोड़ है। हिरासत में लिए गए चार लोगों ने खुलासा किया कि उनके बाकी साथी अंधेरी के एक होटल में हैं।

अंधेरी सबवे के पास होटल अम्फा में तुरंत छापेमारी की गई, वहां से पुलिस ने ₹2000 के अंकित मूल्य के नकली नोटों के 100 बंडल बरामद किए, कुल राशि ₹2 करोड़, वहां से तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है|

मामले में गिरफ्तार किए गए सात लोगों की पहचान वसीम सलमानी, सुमित शर्मा, प्रदीप चौधरी, मनोज शर्मा, विनोद विजयन, एसरार अहमद अब्दुल सलाम कुरैशी और आफ्फाक अहमद के रूप में हुई है। अंसार अहमद अंसारी, उन्हें आपराधिक साजिश और भारतीय दंड संहिता की धारा 489 के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आरोपी दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और केरल के रहने वाले हैं।

अपराध शाखा के डीसीपी संग्रामसिंह निशानदार ने कहा, “आरोपी 31 जनवरी तक हमारी हिरासत में हैं, हम इन नोटों के स्रोत के साथ-साथ यह भी पता लगाएंगे कि इन्हें किसको और किस उद्देश्य से पहुंचाया जाना है।”

आरोपियों ने दावा किया कि नकली नोट दिल्ली से खरीदे गए थे और वे उस बाजार में फैलाने की कोशिश कर रहे थे जिसके लिए वे शहर आए थे।

Your email address will not be published.