बच्चे को छोड़ने से पहले सचिन दीक्षित ने किया लिव-इन पार्टनर का मर्डर

| Updated: October 16, 2021 12:22 pm

20 घंटे की भारी खोज के बाद, गांधीनगर पुलिस और अन्य बलों ने परित्यक्त बच्चे के पिता का सफलतापूर्वक पता लगाया और उसकी पहचान सचिन दीक्षित के रूप में की थी और शनिवार की रात बच्चे को शिवांश के रूप में पहचाना गया था। शिवांश की मां की तलाश अभी भी जारी थी, और मामले के नवीनतम अपडेट से पता चलता है कि उसकी मां मेहंदी उर्फ ​​हीना की हत्या शिवांश के पिता सचिन ने ही की थी।

सचिन दीक्षित को उनकी पत्नी अनुराधा के साथ राजस्थान के कोटा से पकड़ा गया था। रविवार की सुबह गांधीनगर पुलिस ने दंपति से पूछताछ की और बाद में सचिन को मेडिकल टेस्ट के लिए ले जाया गया।

पुलिस की प्राथमिक जांच से पता चलता है कि सचिन और हीना के बीच अपनी पत्नी के साथ कोटा जाने के फैसले पर तीखी बहस हुई, जिसके बाद नाराज सचिन ने हीना को मौत के घाट उतार दिया। फिर उन्होंने शव को एक बैग में पैक किया और वडोदरा में अपने घर की रसोई में छिपा दिया।

हीना की मुलाकात सचिन से अहमदाबाद के एक शोरूम में हुई थी, जहां वह काम करती थी। प्यार में पड़ने के बाद हीना और सचिन अहमदाबाद में साथ रहने लगे। 6 महीने साथ रहने के बाद दोनों का ब्रेकअप हो गया। हालांकि, हीना ने फिर से सचिन से संपर्क किया और दोनों ब्रेक के बाद साथ रहने लगे। 2020 में हीना ने अपने बेटे शिवांश को जन्म दिया। अगस्त के आसपास, सचिन को वडोदरा स्थित एक कंपनी, ओजोन ओवरसीज लिमिटेड में नौकरी मिल गई, जिसके बाद वह हीना और शिवांश के साथ वडोदरा चले गए और दर्शनम ओएसिस फ्लैट्स में किराए के फ्लैट में रहने लगे जो कि बोपड़ इलाके में स्थित है।

शिवांश की मां का गला घोंटकर सचिन शुक्रवार की रात शिवांश को अपने साथ ले गए और गांधीनगर के पेठापुर स्थित स्वामीनारायण मंदिर की गौशाला में छोड़ गए थे|

सचिन दीक्षित और हीना पेठानी कथित तौर पर लिव-इन रिलेशनशिप में थे और उनका बेटा शिवांश आज 10 महीने का हो गया है।

Your email address will not be published. Required fields are marked *