गुजरात में गर्मी छूटा रही पसीना , पांच दिन तक राहत की उम्मीद नहीं

| Updated: April 24, 2022 1:04 pm

गुजरात में औधोगिक विकास के साथ ग्लोबल वार्मिंग का असर दिखने लगा है , मई में पढ़ने वाली गर्मी अप्रैल में ही रिकॉर्ड तोड़ रही रही है। मौसम विभाग येलो और ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है , राज्य ने इस साल अप्रैल महीने के पहले 22 दिनों में से लगभग 19 दिनों के लिए अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस से अधिक होने का अनुभव किया था।

गांधीनगर में शनिवार को अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस और अहमदाबाद में अधिकतम तापमान 41.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वंही रविवार को अहमदाबाद का अधिकतम तापमान 42. 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने शनिवार को कहा कि आने वाले तीन दिनों के लिए अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की उम्मीद है और मंगलवार और बुधवार को 44 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने की उम्मीद है।

अहमदाबाद में तीन दिनों के लिए येलो अलर्ट और बाद के दो दिनों के लिए ऑरेंज अलर्ट रहेगा

आईएमडी ने अपने बयान में कहा कि अहमदाबाद में तीन दिनों के लिए येलो अलर्ट और बाद के दो दिनों के लिए ऑरेंज अलर्ट रहेगा।

साथ ही, राज्य के दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र क्षेत्रों के इलाकों में भी अगले पांच दिनों तक उच्च तापमान का सामना करने की संभावना है।

अहमदाबाद के अलावा, दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र के कुछ हिस्सों में भी अगले पांच दिनों तक उच्च तापमान का सामना करने की संभावना है। मौसम विभाग ने शुक्रवार को इन क्षेत्रों में शनिवार से दो दिनों के लिए लू की चेतावनी जारी की थी।

स्वास्थ्य विभाग ने एडवाइजरी जारी की

राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए एक एडवाइजरी जारी कर नागरिकों को लू या लू लगने के लक्षणों और इसके प्रभाव को कम करने के तरीकों के बारे में आगाह किया, एडवाइजरी में नागरिकों से आग्रह किया गया है कि यदि संभव हो तो वे सीधे गर्मी से बचें, बहुत सारे तरल पदार्थों का सेवन करें और अपने सिर को गीले कपड़े से ढकें.

कई हिस्सों में हालात खराब हैं. इतना ही नहीं मध्य उत्तर के कई हिस्सों के साथ-साथ देश के कुछ दक्षिणी हिस्सों में भीषण गर्मी की स्थिति देखी जा रही है. इसके अलावा, पंजाब, हरियाणा, गुजरात, महाराष्ट्र और यहां तक ​​कि कर्नाटक के कुछ हिस्सों में तापमान 40 के दशक के सामान्य स्तर से काफी ऊपर है.

तीन दिनों के सामान्य तापमान के बाद, 2 अप्रैल को बनासकांठा, राजकोट, पोरबंदर, अमरेली और कच्छ में उच्च तापमान के साथ हीटवेव लौटने की संभावना है .

पीएम मोदी के जम्मू दौरे के पहले विस्फोट , जाँच में जुटी पुलिस

Your email address will not be published.