अहमदाबाद क्राइम ब्रांच की हैट्रिक, तीन अपराधियों को दबोचा

| Updated: July 2, 2021 8:10 pm

अहमदाबाद क्राइम ब्रांच नौ तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक के पास से जहां पिस्तौल बरामद हुई है, वहीं अन्य दो बड़े चोर हैं। क्राइम ब्रांच ने 2 जुलाई को शहर के वटवा इलाके से 50 साल के एक कथित कुख्यात अपराधी जाकिर उर्फ इकबाल उर्फ चूहो उर्फ आसिफ बशीरभाई शेख को चोरी के जेवरात के साथ गिरफ्तार किया।

क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक, लगता है कि आरोपी ने जेवर चुराकर या फिर किसी को धोखा देकर हासिल किया है। क्राइम ब्रांच के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “हमने आरोपी को धारा 41 (डी) के तहत हिरासत में लिया है और पूछताछ कर रहे हैं।” उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पता चला कि करीब 10 दिन पहले आरोपी ने हिम्मतनगर में पोलो ग्राउंड के पास मेमन हाउस स्थित एक घर में भी तोड़-फोड़ की थी। वहां से 15,000 रुपये की नकदी चोरी कर ली गई थी। अधिकारी ने कहा, “आरोपी ने हमारे सामने यह भी कबूल किया है कि उसने हिम्मतनगर में एक किराना स्टोर से 10,000 रुपये नकद चुराए थे।” क्राइम ब्रांच के जांचकर्ताओं ने कहा कि आरोपी का आपराधिक इतिहास है। उसे सेंधमारी के 17 से अधिक मामलों में गिरफ्तार किया गया है।

क्राइम ब्रांच का दूसरा ऑपरेशन शहर के खोखरा इलाके में था। वहां से पिस्तौल के साथ 34 साल के दिलीपसिंह विहोला नाम के शख्स को गिरफ्तार किया गया। एक अधिकारी ने कहा, “हम उससे पूछताछ कर रहे हैं कि वह हथियार कहां से लाया और क्या उसने पहले कभी पिस्तौल का इस्तेमाल किया है?”  क्राइम ब्रांच के सूत्रों ने बताया कि विहोला पहले भी गंभीर अपराधों में शामिल रहा है। उसके खिलाफ शहर के खोखरा और वटवा पुलिस थानों में ऐसे छह मामले दर्ज हैं।

तीसरे ऑपरेशन में जुहापुरा निवासी साहिल उर्फ मच्छी साबिरभाई अजमेरी को पकड़ा गया। 21 वर्षीय अजमेरी हत्या के प्रयास के एक मामले में वांछित था। क्राइम ब्रांच के एक अन्य अधिकारी ने कहा, “अजमेरी अहमदाबाद के सरखेज पुलिस थाने में दर्ज शराबबंदी के अन्य दो मामलों में वांछित था।” क्राइम ब्रांच द्वारा गिरफ्तार किया गया दिन का तीसरा आरोपी विनोदकुमार शिंगदा है।  उस पर धोखाधड़ी और जालसाजी के मामलों में शामिल होने का आरोप था। 

Your email address will not be published. Required fields are marked *