भारत जोड़ो यात्रा में बच्चों के ‘इस्तेमाल’ पर बाल आयोग खफा

| Updated: September 14, 2022 4:16 pm

चुनाव आयोग से राहुल गांधी और कांग्रेस के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर अपने राजनीतिक अभियान ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में बच्चों को शामिल करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने को कहा है। एनसीपीसीआर के प्रमुख प्रियांक कानूनगो ने कहा कि राहुल गांधी बच्चों को “राजनीतिक औजार” (political tools) के रूप में “दुरुपयोग” कर रहे हैं।

मुख्य चुनाव आयोग राजीव कुमार को लिखे पत्र में कानूनगो ने कहा कि एनसीपीसीआर को सोमवार को एक शिकायत मिली है। इसमें आरोप लगाया गया है कि गांधी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और उसके बाल विभाग ‘जवाहर बाल मंच’ राजनीतिक इरादों के लिए बच्चों का इस्तेमाल कर रहे हैं (targeting children with political intentions)। ‘भारत जोड़ो यात्रा’ नामक अपने जन संपर्क अभियान के हिस्से के रूप में उन्हें राजनीतिक गतिविधियों में शामिल करना गलत है।

कानूनगो ने लिखा है, “… इस शिकायत के बाद कई परेशान करने वाली तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर देखे गए हैं। इनमें यह देखा जा सकता है कि बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है। ‘भारत जोड़ो बच्चे जोड़ो’ के नारे के तहत एक राजनीतिक एजेंडे के साथ इस अभियान में उन्हें जोड़ा गया है। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि अभियान में भाग लेने वाले बच्चों को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के झंडे पकड़े हुए और राजनीतिक नारे लगाते हुए देखा गया।”

उन्होंने आगे आरोप लगाया कि अभियान के हिस्सा के रूप में ‘जवाहर बाल मंच’ दरअसल ‘भारत जोड़ो बच्चे जोड़ो’ अभियान चला रहा था और राहुल गांधी स्कूलों का दौरा कर रहे थे, नाबालिग छात्रों के साथ बातचीत कर रहे थे और उन्हें राजनीतिक अभियानों में भाग लेने दे रहे थे। और, कांग्रेस की वेबसाइट के अनुसार ही ‘जवाहर बाल मंच’ 7 से 18 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों को जोड़ने के लिए बना एक आंतरिक विभाग (internal department) है।

गुजरात -आंदोलन में एक पूर्व सैनिक की मौत, पुलिस से भिड़ंत ,सैनिकों ने जताया आक्रोश

Your email address will not be published.