गुजरात में मूंगफली के उत्पादन पर पड़ सकती है मौसम की मार

| Updated: January 23, 2023 1:31 pm

जलवायु परिवर्तन (climate change) के संभावित प्रभाव को उजागर करने वाले एक अध्ययन में विशेषज्ञों ने गुजरात की मुख्य खरीफ फसल मूंगफली के उत्पादन में सदी के अंत तक 32 प्रतिशत तक की गिरावट की भविष्यवाणी की है।

गुजरात देश में मूंगफली का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है। भारत के कुल मूंगफली उत्पादन का 40.5 प्रतिशत गुजरात में होता है। यह भविष्यवाणी न्यूनतम और अधिकतम तापमान में क्रमशः 0.11 और 0.12 डिग्री सेल्सियस की वार्षिक वृद्धि के आधार पर दीर्घकालिक पूर्वानुमान (long-range forecast) को देखते हुए की गई है।

पूर्वानुमान में 2071 के बाद वार्षिक वर्षा में लगभग 63 प्रतिशत की कमी की भी भविष्यवाणी की गई है। मौसम की स्थिति में बदलाव के प्रभाव को कम करने के लिए अध्ययन वर्तमान चक्र (current cycle) की तुलना में पर्याप्त सिंचाई के साथ जल्दी बुवाई का सुझाव देता है।

यह अध्ययन भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) की मौसम पत्रिका के जनवरी संस्करण में छपा है। टाइटल है-‘गुजरात के उत्तरी सौराष्ट्र कृषि-जलवायु क्षेत्र में मूंगफली पर जलवायु परिवर्तन का प्रभाव।’

और पढ़ें: एएमसी के आधे से भी कम पार्कों में हैं शौचालय की सुविधा

Your email address will not be published. Required fields are marked *