गुजरात विधानसभा चुनाव : 1 और 5 दिसंबर को दो चरणों में वोटिंग, 8 दिसंबर को हिमाचल के साथ नतीजे

| Updated: November 3, 2022 1:13 pm

चुनाव आयोग ने बुधवार को गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 की तारीख और कार्यक्रम की घोषणा की। चुनाव आयोग ने कहा कि चुनाव दो चरणों में 1 और 5 दिसंबर को होंगे। इस घोषणा ने गुजरात में लोकतंत्र के महापर्व के लिए मंच तैयार कर दिया है। गुजरात की सत्तारूढ़ भाजपा और कांग्रेस के साथ तीसरे खिलाडी के तौर पर आम आदमी पार्टी के बीच त्रिकोणीय मुकाबले के आसार है । मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने आज संवाददाताओं से कहा कि मतगणना 8 दिसंबर को हिमाचल प्रदेश के साथ होगी। पहाड़ी राज्य में मतदान की घोषणा पहले ही हो चुकी है। पहले चरण में कच्छ , सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में मतदान होगा , जबकि दूसरे चरण में मध्य और उत्तर गुजरात में मतदान होगा।

पहले चरण के लिए अधिसूचना 5 नवंबर और 10 नवंबर को जारी की जाएगी। जबकि उम्मीदवार अपना नामांकन पहले चरण के लिए 14 नवम्बर और 17 नवम्बर तक कर सकेंगे।

चुनाव आयोग ने हिमाचल प्रदेश के लिए तारीखों की घोषणा के लगभग दो सप्ताह बाद गुजरात चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा की है। देरी ने विपक्ष को आदर्श से विचलन पर सवाल उठाने के लिए प्रेरित किया है। उन्होंने आरोप लगाया था कि केंद्र को राज्य के लिए रियायतों की घोषणा करने में मदद करने के लिए गुजरात चुनाव की तारीखों की घोषणा नहीं की गई थी।

केंद्रीय चुनाव आयोग ने कहा कि संशोधित नामांकन समय सीमा का 3.4 लाख नए मतदाताओं ने लाभ उठाया अब ये लोग इस बार वोट कर सकेंगे अगर चुनाव आयोग ने नामांकन की तारीख को संशोधित नहीं किया होता, तो वे 1 जनवरी 2023 के बाद के चुनावों के लिए अर्हता प्राप्त करते । सभी मतदान केंद्रों पर पेयजल, रैंप, शौचालय, प्रतीक्षालय जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी सभी मतदान केंद्र भूतल पर होंगे। प्रत्येक मतदान केंद्र पर विशेष पर्यवेक्षक तैनात रहेंगे और वरिष्ठ नागरिकों, विकलांगों आदि के लिए विशेष सुविधाओं की निगरानी करेंगे.

गुजरात में 4.9 करोड़ मतदाता हैं जिसमे 3.24 लाख नए मतदाता जुड़े है , मतदाता 51,782 मतदान केंद्रों पर मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे | 50 प्रतिशत मतदान केंद्रों पर है वेब कास्टिंग की सुविधा उपलब्ध कराई गयी है।

विकलांग मतदाताओं के लिए 182 मतदान केंद्र जबकि 1274 महिला मतदान केंद्र बनाएंगे। इस बार बनाए गए अनोखे मतदान केंद्र 142 मॉडल मतदान केंद्र बनाये जायेंगे |

1274 विशेष महिला मतदान केंद्र बनाये जायेंगे जिसमे केवल महिला पुलिस अधिकारी और महिला चुनाव कर्मचारी ही होंगे 182 मतदान केंद्रों पर विकलांग निर्वाचन कर्मियों द्वारा ही संचालित किया जाएगा। गुजरात में 33 मतदान केंद्र होंगे जिसमे प्रत्येक जिले में एक जिसमें सबसे कम उम्र के कर्मचारी यानी हाल ही में भर्ती चुनाव अधिकारी-कर्मचारी ड्यूटी पर होंगे। कपराडा में एक शिपिंग कंटेनर बनाया जायेगा |

जाफराबाद के शालबोट के 457 मतदाताओं के लिए नाव में विशेष इंतजाम किए जाएंगे. सिदी समुदाय के लोगों के लिए विशेष मतदान सुविधा – माधवपुर-गिर क्षेत्र में 200 से अधिक मतदाता हैं। शायलबेट में एक वोटर के लिए 15 लोगों की टीम आवंटित की जाएगी, प्रदेश में 1417 ट्रांसजेंडर वोटर होंगे |

182 सीटों में से 13 सीटें अनुसूचित जाति के लिए और 27 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं।

बीजेपी ने 1998 से गुजरात पर शासन किया है, कांग्रेस वापसी करने की कोशिश कर रही है।वर्तमान में भाजपा के 111 कांग्रेस के 63 एनसीपी के 1 बीटीपी के 2 निर्दलीय 1 विधायक है जबकि 4 जगह रिक्त है। वहीं 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के 99 कांग्रेस के 77 तथा 3 निर्दलीय विधायक जीते थे।

मोरबी हादसा – आप देगी पीड़ितों को क़ानूनी सहायता ,निकाली मौन रैली

Your email address will not be published. Required fields are marked *