प्रधानमंत्री मोदी के वडनगर में बनेगा हेलीपोर्ट

| Updated: April 13, 2022 5:44 pm

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के शहर वडनगर को उन शहरों में शामिल किया गया है जिन्हें हेलीपोर्ट मिलेगा। राज्य के उड्डयन विभाग ने सात स्थानों की पहचान की है जहां हेलीपैड का निर्माण किया जाएगा जिसमें अहमदाबाद, सोमनाथ, सापुतारा, अंबाजी, द्वारका और गिर शामिल हैं। एक समृद्ध इतिहास एवं धरहोर से सराबोर शहर वडनगर को भी इस सूची में शामिल किया गया है।

हेलीपोर्ट बनाने का मुख्य उद्देश्य पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देना है, चिकित्सा आपात स्थिति के लिए एवं आपदाओं के दौरान राहत बचाव कार्य के लिए भी इसका उपयोग होगा। यह राज्य के आंतरिक क्षेत्रों में यात्रा के लिए भी होगा।

उड्डयन विभाग के एक अधिकारी के अनुसार हेलीपैड बनाने के लिए तकनीकी मंजूरी के अलावा कई मंजूरी की जरूरत होती है, जिसमें नागरिक उड्डयन महानिदेशक, कलेक्टर, पुलिस और राज्य उड्डयन विभाग शामिल हैं।
अधिकारी ने कहा कि हेलीपैड से केवल एक ही हेलीकॉप्टर उतर सकता है और उड़ान भर सकता है, जबकि चार या अधिक एक साथ हेलीपोर्ट का उपयोग कर सकते हैं।

“एक हेलीपोर्ट को बनाने में लगभग 3 करोड़ रुपये से लेकर 4 करोड़ रुपये तक की लागत आती है, पहले चरण में अहमदाबाद और वडनगर में एक हेलीपोर्ट का निर्माण किया जाएगा, इसके लिए टेंडर जारी कर दिए गए हैं। इसे अहमदाबाद के हांसोल और वडनगर के गुंजा में हवाई अड्डे के करीब बनाया जाएगा।

एक गैर-अनुसूचित ऑपरेटर परमिट धारक को इसका उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी। हेलीपोर्ट राज्य के राजस्व के लिए इस्तेमाल होने वाले चार्टर्ड विमान और हेलीकॉप्टर पार्किंग स्लॉट के लिए भी उपयोगी होगा।

Your email address will not be published.