बिसलेरी होगी टाटा की, 7000 करोड़ में होगा सौदा

| Updated: November 24, 2022 12:07 pm

सॉफ्ट ड्रिंक के ब्रांड थम्स अप, गोल्ड स्पॉट लिम्का, कोका-कोला को बेचने के लगभग तीन दशक बाद रमेश चौहान बिसलेरी इंटरनेशनल (Bisleri International) को टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (TCPL) के हाथों  6,000 से 7,000 रुपये करोड़ में बेच रहे हैं। हालांकि, करार के तहत मौजूदा मैनेजमेंट दो साल तक जारी रहेगा। बिसलेरी भारत की सबसे बड़ी पैकेज्ड वॉटर कंपनी है।

82 वर्षीय चौहान की तबीयत इन दिनों में ठीक नहीं है। उनका कहना है कि बिसलेरी को अगले लेवल पर ले जाने के लिए उनके पास उत्तराधिकारी भी नहीं है। चौहान ने कहा कि उनकी बेटी जयंती को कारोबार में ज्यादा दिलचस्पी नहीं है। चौहान को उम्मीद है कि टाटा ग्रुप इसे और भी बेहतर तरीके से आगे बढ़ाएगा। साथ ही यह भी कहा कि बिसलेरी को बेचना अभी भी एक दुखदायी फैसला था।

 बिसलेरी को लेने के लिए रिलायंस रिटेल, नेस्ले और डेनोन सहित कई कंपनियों ने कोशिश की थी। टाटा के साथ बातचीत दो साल से चल रही थी। फिर कुछ महीने पहले टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन और टाटा कंज्यूमर के सीईओ सुनील डिसूजा से मुलाकात के बाद उन्होंने अपना मन बना लिया।

बता दें कि बिसलेरी मूल रूप से इटालियन ब्रांड था, जिसने 1965 में मुंबई में भारत में दुकान खोली थी। चौहान ने 1969 में इसे अधिग्रहित (acquired) किया था। कंपनी के 122 ऑपरेशनल प्लांट हैं। इतना ही नहीं, भारत और पड़ोसी देशों में 4,500 डिस्ट्रीब्यूटर्स और 5,000 ट्रकों का नेटवर्क है।

माइनॉरिटी स्टेक नहीः

मीडिया के मुताबिक, टाटा ग्रुप ने बिसलेरी के लिए 12 सितंबर को ऑफर दिया था। कारोबार बेचने के बाद चौहान को अल्पसंख्यक (Minority) हिस्सेदारी रखने का कोई मतलब नजर नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि जब मैं शो नहीं चला रहा हूं, तो मैं इसका क्या करूंगा? बोतलबंद पानी के कारोबार से बाहर निकलने के बाद चौहान का इरादा पर्यावरण और धर्मार्थ कारणों जैसे जल संचयन, प्लास्टिक रीसाइक्लिंग और गरीबों को चिकित्सा उपचार प्राप्त करने में मदद करने पर फिर से ध्यान केंद्रित करना और निवेश करना है।

गौरतलब है कि कोका-कोला ने 1993 में चौहान और उनके भाई प्रकाश से एयरेटिड ड्रिंक्स का पूरा पोर्टफोलियो खरीदा था। इसमें सिट्रा, रिमझिम और माजा जैसे ब्रांड शामिल थे। टाटा कंज्यूमर दरअसल फास्ट-मूविंग कंज्यूमर गुड्स (FMCG)  क्षेत्र में आक्रामक रुख रखता है और इस क्षेत्र में टॉप तीन में शामिल होने का लक्ष्य है। यह हिमालयन ब्रांड के तहत पैकेज्ड मिनरल वाटर के साथ-साथ टाटा कॉपर प्लस वॉटर और टाटा ग्लूको+ भी बेचता है। बिसलेरी को हासिल करने से यह इस सेगमेंट में पहले नंबर पर पहुंच जाएगा।

Also Read: मुंबई और आसपास के इलाकों में खसरा का प्रकोप: एक महीने में 13 मौतें

Your email address will not be published. Required fields are marked *