पाटीदार युवक के खिलाफ झूठे मुकदमे 23 मार्च तक वापस लें वरना आंदोलन के लिए तैयार रहें: हार्दिक पटेल

| Updated: March 7, 2022 1:27 pm

पाटीदार (Patidar) आरक्षण आंदोलन के दौरान युवाओं के खिलाफ दर्ज ‘झूठे’ मामलों को वापस लेने की मांग को लेकर रविवार को अहमदाबाद में राज्य भर के पाटीदार (Patidar) युवाओं द्वारा एक रैली का आयोजन कियान गया | वहीं उन्होंने इस साल 23 मार्च तक सभी केस वापस लेने की मांग की.

पिछले चार साल से मांग की जा रही है, जिस पर राज्य सरकार ने सहमति जताते हुए उमियाधाम और खोडलधाम संगठनों के अध्यक्षों और नेताओं को वादा किया था, लेकिन अभी तक उस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया है|

गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के पूर्व संयोजक हार्दिक पटेल ने कहा, “मैं लोगों की लड़ाई निडर होकर लड़ता हूं, इसलिए सभी का साथ मिलता है। पाटीदार आंदोलन में युवाओं के खिलाफ झूठे मुकदमे वापस लेने की मांग को लेकर प्रदेश भर से युवा रैली में शामिल हुए थे|

यह भी पढ़े: यूक्रेन से लौटे छात्रों को भारत में कोर्स पूरा करने की अनुमति दें: सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर

पाटीदार आरक्षण आंदोलन ने राज्य में कई समुदायों को लाभान्वित किया है, लेकिन आंदोलनकारी युवा परेशानी में हैं, उन्होंने कहा कि “हमारा अनुरोध है कि आंदोलन से लाभान्वित होने वाला प्रत्येक व्यक्ति हमारी लड़ाई में शामिल हो और मामलों को वापस लेने की मांग करे। अगर सरकार 23 मार्च तक फैसला नहीं लेती है तो हम गुजरात में आंदोलन करेंगे।

उन्होंने कहा, “अंत में, एकमात्र अनुरोध यह है कि आप जिस पार्टी में विश्वास करते हैं, उसे वोट दें, जहां आप चाहते हैं, लेकिन इस गैर-राजनीतिक मांग का समर्थन करें और मामलों को वापस लेने के लिए लड़ें।”

Your email address will not be published.