अहमदाबाद: एयरपोर्ट कस्टम्स ने बेल्ट के अंदर छिपाकर रखा 23 किलो सोने का पेस्ट किया जब्त

| Updated: November 30, 2022 4:18 pm

अधिकारियों ने शारजाह (Sharjah) से तीन यात्रियों को हवाईअड्डे से एयर अरेबिया (Air Arabia flight) के एक विमान से पकड़ा। इन तीन यात्रियों में से दो ने सोने को पेस्ट में बदलकर अपनी कमर की पेटियों में छिपा रखा था।

अवैध सोना (illegal gold) लाने के नए तौर-तरीकों का पता चलने से सीमा शुल्क अधिकारी (customs officials) हैरान हैं। तीन यात्रियों से सघन पूछताछ की जा रही है। गौरतलब है कि कुछ समय पहले मुंबई हवाईअड्डे पर कुछ यात्रियों को उनकी कमर की पेटी में छिपा कर रखे गए 61 किलो सोने के साथ पकड़ा गया था।

शारजाह जाने वाली एयर अरबिया की फ्लाइट (Air Arabia flight) सुबह 3:50 बजे अहमदाबाद (Ahmedabad) में उतरी। बोर्ड पर सवार तीन यात्री इमिग्रेशन से गुजरे और सामान को कन्वेयर बेल्ट से कस्टम तक ले गए। उनके संदिग्ध व्यवहार के कारण वहां ड्यूटी पर मौजूद एयर इंटेलिजेंस यूनिट (Air Intelligence Unit) के अधिकारियों ने उन्हें रोक लिया। पूछताछ करने पर वे भ्रमित दिखे और सही जवाब नहीं दे सके।

जांच करने पर बैग के अंदर कुछ नहीं मिला, लेकिन जब मेटल डिटेक्टर (metal detector) से जांच की गई तो दो यात्रियों द्वारा पहनी गई बेल्ट में 23 किलो सोने का पेस्ट पाया गया, जिसमें बीप की आवाज आ रही थी।

जब्त सोने की कीमत भारतीय बाजार में 13 करोड़ रुपए है। तस्करी में शामिल लोगों के बारे में सघन पूछताछ की जा रही है। देश में सोने की तस्करी बढ़ गई है क्योंकि 24 कैरेट सोने के लिए खाड़ी देशों और भारतीय बाजार के बीच लगभग 3 लाख रुपये का अंतर है।

तस्कर नए-नए तरीकों के साथ विभिन्न हवाई अड्डों का उपयोग करके देश में सोने की तस्करी करते हैं। अहमदाबाद एयरपोर्ट (Ahmedabad airport) हाल ही में सोने की तस्करी का हब बना है।

सोने की तस्करी के लिए इसका पेस्ट बनाया जाता है और बाद में वापस पाउडर में बदल दिया जाता है। इसके लिए सोने को किसी रासायनिक घोल से धोया जाता है। इस पूरी प्रक्रिया में नौ से बारह घंटे लगते हैं।

कुछ समय पहले इस बात का खुलासा हुआ था कि अहमदाबाद एयरपोर्ट (Ahmedabad airport) के VIP लाउंज या टॉयलेट से 200 किलो से ज्यादा सोना निकाला गया है। इसमें से 12 किलो सोना ही बताया गया है।

Also Read: वैज्ञानिकों ने 48,000 साल पुराना जॉम्बी वायरस किया पुनर्जीवित!

Your email address will not be published. Required fields are marked *