गुटबाजी यानि कांग्रेस , प्रशिक्षण शिविर में आईजी गुट ने किया हार्दिक के भाषण का बहिष्कार

| Updated: March 13, 2022 6:39 pm

युवक कांग्रेस की गुटबाजी का असर प्रशिक्षण शिविर में भी उतर कर सामने आया है। भरतसिंह सोलंकी का भाषण पूरा होने के बाद, मीडिया के सदस्यों को प्रशिक्षण शिविर से निष्कासित कर दिया गया।

महुडी में युवा कांग्रेस पदाधिकारियों के प्रशिक्षण शिविर में गुटबाजी खुलकर सामने आयी है। गुजरात युवक कांग्रेस के चुनाव में युवा कांग्रेस में दो गुटों ने वर्चस्व की लड़ाई लड़ी , लेकिन अंतिम परिणाम में हार्दिक पटेल गुट ने इन्द्रविजय सिंह गोहिल समूह को पराजित करके विश्वनाथ वाघेला को अध्यक्ष बनवाने में कामयाब रहे। लेकिन उसके बाद भी वर्चस्व की जंग जारी है , एक दशक तक युथ कांग्रेस और एनएसयूआई पर इन्द्रविजय सिंह वाघेला गुट का कब्ज़ा था लेकिन कांग्रेस की राजनीति में हार्दिक के बढ़ते दबदबे के बीच इन्द्रविजय कैंप कमजोर हुआ है .

दोनों गुटों ने प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए अपने प्रत्याशी को जिताने के लिए कड़ी मेहनत की।चुनाव के बाद युवा कांग्रेस के नवनिर्वाचित 300 नियुक्तियों को बुनियादी प्रशिक्षण के लिए आज से तीन दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया है. प्रशिक्षण शिविर के उद्घाटन के मौके पर प्रदेश अध्यक्ष जगदीश ठाकोर और प्रदेश अध्यक्ष एवं कार्यवाहक अध्यक्ष हार्दिक पटेल मौजूद रहे.

भरतसिंह सोलंकी ने सभी मतभेदों को भुलाकर साथ काम करने का निर्देश दिया


खेमे में भरतसिंह ने कहा कि गुजरात की युवा कांग्रेस एकजुट होकर मतभेदों को भूले, युवा कांग्रेस एकजुट होगा तो बड़े नेताओं को भी साथ मिलकर काम करना होगा. पहले अंतर्कलह को खत्म करना होगा. युवाओं में गुटबाजी है. अब गुटबाजी का समय नहीं है संघर्ष का समय है । भरतसिंह सोलंकी ने सभी मतभेदों को भुलाकर साथ काम करने का आह्वान किया।

हार्दिक पटेल के भाषण का विरोध


युवक कांग्रेस की गुटबाजी का असर प्रशिक्षण शिविर में भी उतर कर सामने आया है। भरतसिंह सोलंकी का भाषण पूरा होने के बाद, मीडिया के सदस्यों को प्रशिक्षण शिविर से निष्कासित कर दिया गया। उसके बाद, हार्दिक पटेल को भाषण देने के लिए बुलाया गया। जैसे ही हार्दिक बोलने के लिए खड़े हुए इन्द्रविजय सिंह गोहिल समर्थक निर्वाचित सदस्य उठकर बाहर चले गए , हार्दिक पटेल ने भाषण को छोटा कर दिया।

Your email address will not be published.