फातिमा शेख का 191वां जन्मदिन: इस तरह गूगल ने याद किया भारत की पहली मुस्लिम महिला शिक्षिका फातिमा शेख को

| Updated: January 9, 2022 1:57 pm

भारत की पहली मुस्लिम महिला शिक्षिका फातिमा शेख की आज 191वीं जयंती है।

फातिमा शेख ने समाज सुधारकों ज्योतिराव फुले और सावित्री भाई फुले के साथ मिलकर 1848 में स्वदेशी पुस्तकालय की शुरुआत की। इसे देश का पहला लड़कियों का स्कूल भी माना जाता है।

इनका जन्म 9 जनवरी, 1831 को पुणे में हुआ था। वे अपने भाई के साथ रहती थे। इन्होने समाज के गरीब और वंचित वर्गों और मुस्लिम महिलाओं को शिक्षित करने का काम शुरू किया गया था।

वह घर-घर जाकर बच्चों को पढ़ने के लिए बुलाती थी । समाज का प्रभावशाली वर्ग उनके रास्ते में बाधा डालता है। उन्हें परेशान किया गया, लेकिन सेठ और उनके साथियों ने हार नहीं मानी और बच्चों को शिक्षित करने के लिए किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिए तैयार थे। उन्हें और उनके भाई को निची जात के बच्चो को पढ़ने के लिए समाज से बहार तक निकाल दिया था|

हालांकि फातिमा शेख की कहानी को ऐतिहासिक रूप से नजरअंदाज कर दिया गया है, भारत सरकार, अन्य प्रमुख भारतीय शिक्षकों के साथ, 2014 में उर्दू पाठ्यपुस्तकों में उनकी प्रोफ़ाइल प्रदर्शित करके उनकी उपलब्धियों पर नया प्रकाश डाला।

Your email address will not be published.