गुजरात का प्राणीसंग्राहलय दे रहा है जानवरों को कोरोना का टीका

| Updated: January 22, 2022 7:40 pm

जूनागढ़ संग्राहलय में 70 शेर और 50 बाघ रहते हैं | वैक्सीन का परीक्षण 15 जानवरों पर किया जायेगा | वैक्सीन के दोनों डोज के बीच 28 दिन का अंतर रखा गया है | अगर यह सफल रहा तो आगामी दिनों में बाकी प्राणियों को भी वैक्सीन की डोज दी जाएगी





इंसानो के बाद प्राणियों को कोरोना निरोधी वैक्सीन लगाने की शुरुआत गुजरात ( GUJARAT ) के सक्करबाग प्राणी संग्राहलय जूनागढ़ (Sakkarbagh Zoological Museum Junagadh ) से हो रही है | भारत सरकार (GOVERNMENT OF INDIA ) शेर और बाघ ( LION AND TIGHER )को कोरोना की वैक्सीन ( VACCINE) देने की योजना बनायीं है | देश के विभिन्न प्राणी संग्राहलय में मौजूद जानवरों को वैक्सीन दी जा रही है |प्राणी संग्राहलयों के संचालकों ने भारत सरकार को पत्र लिख कर प्राणियों की सुरक्षा को लेकर चिंता जतायी थी | जिसके बाद ट्रायल बेस पर वैक्सीन देने का निर्णय किया गया है |

अमेरिका ( U .S .A ) के न्यूयार्क (NEW YARK ) प्राणी संग्राहलय में एक बाघ को कोरोना होने की खबर के बाद देश के प्राणी संग्राहलयो बाघों के सुरक्षा की चिंता के कारण प्रवासियों की संख्या कम कर दी गयी | देश के हैदराबाद ( HYDERABAD ) और चेन्नई (CHENAAI ) में शेर और वाघ सहित जंगली जानवरों में भी कोरोना के मामले सामने आये हैं | जूनागढ़ संग्राहलय में 70 शेर और 50 बाघ रहते हैं | वैक्सीन का परीक्षण 15 जानवरों पर किया जायेगा | वैक्सीन के दोनों डोज के बीच 28 दिन का अंतर रखा गया है | अगर यह सफल रहा तो आगामी दिनों में बाकी प्राणियों को भी वैक्सीन की डोज दी जाएगी |

Your email address will not be published.