सेना में मेक इन इंडिया का जलवा, विदेशी हेलिकॉप्टर से मिसाइल तक खरीदी में कटौती की

| Updated: January 15, 2022 11:32 am

स्वदेशीकरण की दिशा में एक बड़े कदम में, सरकार ने विदेशों से कुछ प्रमुख रक्षा खरीद को रद्द कर दिया, जिसमें तटरक्षक बल के लिए हेलीकॉप्टर, सभी इलाके के वाहन (एटीवी), और छोटी दूरी की मिसाइलें शामिल हैं |

रक्षा और सुरक्षा प्रतिष्ठान से मिली जानकारी के मुताबिक खरीद (वैश्विक) श्रेणी के तहत रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) की बैठक के दौरान चर्चा हुयी .खरीदें (वैश्विक) श्रेणी के तहत, खरीद सीधे विदेशी मूल उपकरण निर्माता (ओईएम) से की जाती है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया के तहत विभाग ने रक्षा सेवाओं को पहले विदेशों से खरीद योजनाओं की एक सूची तैयार करने के लिए कहा गया था, जिन्हें स्वदेशी वस्तुओं से बदला जा सकता है। जिसके बाद तीनों सेनाओ की तरफ से उन वस्तुओ की सूची रक्षा मंत्रालय को सौपी गयी थी जिन्हे विदेश की बजाय देशी उत्पादों से बदला जा सकता है |
सूत्रों ने कहा कि पहले से ही खरीद (वैश्विक) के तहत किए गए सौदों पर असर नहीं पड़ेगा, जो सरकार-से-सरकार और अमेरिका के साथ विदेशी सैन्य बिक्री (एफएमएस) मार्ग के तहत किए जा रहे हैं।उन्होंने यह भी कहा कि विदेशी ओईएम का अब भारतीय फर्मों के साथ गठजोड़ करने या न केवल भारतीय सेना को बल्कि अन्य देशों को भी आपूर्ति करने के लिए अपने कारखाने स्थापित करने के लिए स्वागत है।

Your email address will not be published.

Plate