प्रधानमंत्री ने युवाओं से किया एक साल कैशलेस खरीददारी का आह्वान

| Updated: May 19, 2022 7:11 pm

  • वडोदरा के स्वामीनारायण मंदिर में घनश्याम महाराज के 18वें पटोत्सव में हुए शामिल
  • युवाओं से राष्ट्रसेवा के लिए 75 घंटे देने का किया आह्वान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वडोदरा के करेलीबाग के स्वामीनारायण मंदिर में घनश्याम महाराज के 18वें पटोत्सव पर अपनी आभासी तौर से शामिल होते हुए युवाओ से आज़ादी के अमृत महोत्सव में अपना योगदान देने का आह्वान करते हुए एक साल तक कैशलेस पेमेंट करने का अनुरोध किया , उन्होंने कहा की अगर ऐसा होता है तो देश में क्रांति आ जाएगी, अगर सब्जी भी खरीदते है तो उसका भुगतान ऑनलाइन करें जिससे वह भी भुगतान करेगा , आगे पूरी चेन ऑनलाइन बन जाएगी , हम आज़ादी के बाद पैदा हुए हैं इसलिए देश के कुर्बान नहीं हो सकते लेकिन देश के विकास में अपना योगदान दे ही सकते हैं ।

संस्कार अभ्युदय शिविर के दौरान, पीएम मोदी ने सभा से देश की सेवा के लिए संकल्प लेने का अनुरोध किया। उन्होंने युवाओं को कम से कम 75 घंटे राष्ट्र की सेवा में समर्पित करने के लिए प्रेरित किया। सेवा गतिविधियों में स्वच्छता अभियान चलाना, पानी और बिजली की बचत करना और प्लास्टिक मुक्त वातावरण बनाना शामिल होना चाहिए। साथ

गुरुवार, 19 मई को एक डिजिटल स्क्रीन के माध्यम से पीएम मोदी को देखा गया। भारतीय जनता पार्टी के गुजरात राज्य अध्यक्ष ने भी इस अवसर पर शिरकत की। इस मौके पर राज्य के कई अहम मंत्री और बीजेपी नेता भी मौजूद थे.

पीएम मोदी ने की वडोदरा की तारीफ

वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि गुजरात के प्राकृतिक कृषि अभियान में प्राकृतिक भूमि संसाधनों के संरक्षण की क्षमता है. उन्होंने हमारे प्राचीन शास्त्रों में भारतीय संतों द्वारा वर्णित प्रत्येक पीढ़ी के चरित्र निर्माण पर ध्यान केंद्रित । पीएम के अनुसार, आजादी का अमृत महोत्सव दूरदर्शिता और प्राचीन परंपराओं के साथ भारत की एक नई पहचान बनाने पर केंद्रित है।

पुराने दोस्तों को किया याद

प्रधानमंत्री ने युवाओं को कैश की जगह डिजिटल करेंसी का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया उन्होंने अपने व्यक्तिगत और राजनीतिक जीवन में वडोदरा की भूमिका को प्रदर्शित किया। बाद में, पीएम मोदी ने अपने साथियों, स्वर्गीय केशुभाई ठक्कर, जमनादास, केके शाह, नलिन भट्ट, मकरंद देसाई और रमेश गुप्ता को प्यार से याद किया। उन्होंने वडोदरा के औद्योगिक और सांस्कृतिक विकास के लिए उसकी प्रशंसा की।

शिविर के आयोजक ज्ञानजीवन दास ने भीड़ से राष्ट्र निर्माण में पीएम मोदी के प्रयासों में शामिल होने की अपील की। उन्होंने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘संस्कार का अर्थ है शिक्षा, सेवा और संवेदनशीलता, समर्पण, दृढ़ संकल्प और ताकत। इसका अर्थ दूसरों का उत्थान और कल्याण भी है। जैसे-जैसे हम सफलता के शिखर पर पहुँचते हैं, हमें इसकी सहायता से दूसरों की सेवा करनी चाहिए।’

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने मनोरोग पीड़ित महिलाओं के संस्थान का दौरा किया

Your email address will not be published.