अग्निपथ के विरोधियो को रामदेव ने दी योग की सलाह , कहा योग से बढ़ेगा प्रदर्शन करियों का संयम और धैर्य

| Updated: June 19, 2022 3:32 pm

अहमदाबाद के निकोल इलाके में आयोजित ट्रेनिंग कैंप में बाबा रामदेव ने लोगों को योग सिखाया. बाबा रामदेव ने इस दौरान कहा कि पहले मंदिर, मस्जिद और अब अग्निपथ का मार्ग। सभी को राय और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार है; इस अधिकार में बिना किसी हस्तक्षेप के राय रखने और किसी भी मीडिया के माध्यम से और सीमाओं की परवाह किए बिना जानकारी और विचार प्राप्त करने, प्राप्त करने और प्रदान करने की स्वतंत्रता शामिल है।” इसके लिए संयम की आवश्यकता है और योग से संयम आएगा, धैर्य और भाईचारा बढ़ेगा।

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल और राज्यपाल आचार्य देववर्त ने भी योगासन किया

इस मौके पर मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल और राज्यपाल आचार्य देववर्त ने भी योगासन किया. इस अवसर पर आचार्य देववर्त ने कहा कि आज का दिन हम सभी के लिए सौभाग्य का दिन है। आज से 10-12 साल पहले बजने वाले योग के बिगुल को बाबा रामदेव ने ताजा कर दिया है। अगर हम स्वस्थ रहेंगे तो हम सभी सांसारिक, व्यावसायिक और औद्योगिक स्थानों पर काम कर सकेंगे। योग को पूरी दुनिया में ले जाने के लिए हम प्रधानमंत्री जी के आभारी हैं। नतीजतन, दुनिया भर के 177 देश 21 जून को योग दिवस मनाने पर सहमत हुए। 21 जून को योग दिवस लोगों को सेहत के लिए नई गति देगा। गुजरात की यह भूमि महापुरुषों की भूमि है। इसके लिए नरेंद्र मोदी और अमित शाह को धन्यवाद। उन्होंने पूरे ब्रह्मांड में सहयोग की भावना जगाई है। 21 जून को हम सब मिलकर बड़ी संख्या में दुनिया को संदेश देंगे।

21 जून को पूरी दुनिया में योग दिवस मनाया जाएगा

. उसके पहले अहमदाबाद में आयोजित प्रशिक्षण शिविर में बाबा रामदेव ने लोगों को योग सिखाया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल और राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने भी योग किया।
विश्व योग दिवस से पहले शहर में योग शिविर का आयोजन किया गया है।

बाबा रामदेव ने आगे कहा कि योग करने से लोगों की चेतना में एकता आती है। पतंजलि की ओर से योग दिवस पर 3 लाख से अधिक गांवों में योग का आयोजन होगा. प्रत्येक व्यक्ति को अपने 25 वर्ष के जीवन काल को 100 वर्ष तक रखना होता है। गौरतलब है कि 21 जून को दुनियाभर में योग दिवस मनाया जाएगा। इससे पहले राज्य योग बोर्ड पतंजलि योग समिति ने रविवार को अहमदाबाद में योग शिविर का आयोजन किया। विरांजलि मैदान में योग करने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे। अहमदाबाद के मेयर और नगर निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष भी मौजूद थे।

केंद्रीय विश्वविद्यालय के स्कॉलर और प्रोफेसर पर अमेरिकी शोधकर्ता की नक़ल का आरोप

Your email address will not be published.