पाटीदार नेता नरेश पटेल से सोनिया गाँधी की होगी मुलाकात ,तय होगा कब होंगे शामिल

| Updated: April 23, 2022 2:21 pm

नरेश पटेल ने पहले स्वीकार किया था कि उन्होंने प्रशांत किशोर से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर के साथ उनका पुराना रिश्ता था इसलिए उन्हें उनसे मिलना पड़ा. पहले मीडिया के सामने स्वीकार किया था कि वह राजनीति में शामिल हैं। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें राजनीति में आने की कोई जल्दी नहीं है। उन्होंने कहा कि समाज के हित में जो भी पार्टी होगी उसे वह प्राथमिकता देंगे।

पाटीदार नेता नरेश पटेल और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की शाम चार बजे मुलाकात होने की संभावना है. इस मुलाकात में नरेश पटेल के कांग्रेस में शामिल होने का अंतिम फैसला लिया जायेगा। नरेश कांग्रेस में शामिल होंगे इस पर लगभग सहमति बन चुकी है , चर्चा के मुताबिक कांग्रेस सुप्रीमों सोनिया गाँधी से मुलाकात इसी सिलसिले में हो रही

प्रशांत किशोर को साथ में रखकर कांग्रेस आलाकमान नरेश पटेल के साथ बैठक कर सकता है. नरेश पटेल कल से दिल्ली के नेताओं के साथ मुलाकात कर रहे हैं हैं। कांग्रेस नेता एक के बाद एक बैठक कर रहे हैं। हालांकि खोडलधाम अध्यक्ष के राजनीति में शामिल होने को लेकर सस्पेंस बरकरार है।

पिछली प्रेस कॉन्फ्रेंस में नरेश पटेल ने कहा था कि उन्होंने पाटीदार समेत अन्य समुदायों के लोगों से भी मिलना शुरू कर दिया है. इसके अलावा खोडलधाम द्वारा भी सर्वे किया जा रहा है। खोडलधाम का पूरे गुजरात में एक नेटवर्क है और हर जिले में एक लेउआ पटेल समिति है। इन सभी का सर्वे चल रहा है। कांग्रेस आलाकमान के साथ पटेल की बैठक को पाटीदार समुदाय के नेता देख रहे हैं.

प्रशांत किशोर के साथ उनका पुराना रिश्ता – नरेश पटेल

नरेश पटेल ने पहले स्वीकार किया था कि उन्होंने प्रशांत किशोर से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर के साथ उनका पुराना रिश्ता था इसलिए उन्हें उनसे मिलना पड़ा. पहले मीडिया के सामने स्वीकार किया था कि वह राजनीति में शामिल हैं। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें राजनीति में आने की कोई जल्दी नहीं है। उन्होंने कहा कि समाज के हित में जो भी पार्टी होगी उसे वह प्राथमिकता देंगे।

नरेश पटेल ने कराया है सर्वे

उन्होंने कहा कि वह पहले अपने समुदाय में राजनीति में आने को लेकर सर्वे करेंगे और फिर इस सर्वे के आधार पर तय करेंगे कि राजनीति में आना है या नहीं. नरेशभाई ने कहा कि बैठक का आयोजन गुजरात के सभी गांवों और शहर और जिले में रहने वाले प्रत्येक समुदाय के लोगों की व्यक्तिगत प्रतिक्रिया एकत्र करके किया जाएगा. उसके आधार पर रिपोर्ट तैयार की जाएगी। वे इस रिपोर्ट के आधार पर अंतिम निर्णय लेंगे। यह पूछे जाने पर कि राजनीति में आने पर पटेल किस राजनीतिक दल में शामिल होंगे, उन्होंने कहा कि वह सर्वेक्षण समिति की रिपोर्ट के बाद ही कोई निर्णय ले पाएंगे। यह रिपोर्ट आने तक कुछ भी कहना मुश्किल है।

गुजरात कांग्रेस नेतृत्व के खिलाफ हार्दिक पटेल की बगावत

Your email address will not be published.