“अति प्रतिभावान” वेदांत पटेल हर दिन करते हैं अमेरिकी राष्ट्रपति की मददः व्हाइट हाउस

| Updated: April 8, 2022 4:52 pm

वॉशिंगटन : व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने अपने भारतीय अमेरिकी सहायक वेदांत पटेल की जमकर तारीफ की है। ऐसा कम ही होता है। लेकिन उन्होंने पटेल को‘‘अत्यंत प्रतिभाशाली” बताया है। साकी ने पटेल की मौजूदगी में ही अपने दैनिक प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘मैं उनसे (वेदांत पटेल से) अकसर मजाक में कहती हूं कि हम उन्हें सरल काम ही देते हैं। लेकिन हम ऐसा कतई नहीं करते। ऐसा इसलिए कि वह बहुत प्रतिभाशाली हैं।” उन्होंने कहा कि वेदांत न सिर्फ अच्छे लेखक हैं, बल्कि बहुत तेज भी लिखते हैं। साकी को लगता है कि सरकार में उनका करियर बहुत शानदार रहेगा।

उन्होंने वेदांत को बेहतरीन बताया और कि “वह जो भी करते हैं, उससे मुझे बहुत सहायता मिलती है। वह हम सबकी मदद करते हैं। हर दिन राष्ट्रपति तक की मदद करते हैं।”

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन में सहायक प्रेस सचिव के पद पर कार्यरत पटेल यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, रिवरसाइड से स्नातक हैं। उन्होंने ‘यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा’ के ‘वारिंगटन कॉलेज ऑफ बिजनेस’ से एमबीए किया है। गुजरात में जन्मे पटेल कैलिफोर्निया में पले-बढ़े हैं।

32 वर्षीय वेदांत अमेरिकी राष्ट्रपति भवन में पत्रकारों के बीच काफी लोकप्रिय हैं। निचले प्रेस दफ्तर में उनकी डेस्क है। वह मीडिया को इमीग्रेशन और क्लामेट चेंज से जुड़े सवालों का जवाब देते हैं. बाइडेन प्रशासन में शामिल होने से पहले वह प्रेसीडेंशियल इनॉग्रेशन कमिटी के प्रवक्ता रह चुके हैं। इतना ही नहीं, वह बाइडेन कैंपेन के रीजनल कम्युनिकेशन डायरेक्टर भी रह चुके हैं।

वेदांत पटेल ने 2012 से 2015 तक पूर्व सांसद माइक हॉन्डा के साथ डिप्टी कम्युनिकेशन डायरेक्टर के तौर पर काम किया था। इसके बाद उन्होंने अमेरिकी संसद में 2015 से 2017 तक माइक हॉन्डा के कम्युनिकेशन डायरेक्टर के तौर पर भी काम किया।

उसके बाद उन्होंने अप्रैल 2017 से नवंबर 2018 तक क्षेत्रीय प्रेस सचिव और एएपीआई मीडिया के निदेशक के रूप में कार्य किया। फिर नवंबर 2018 से अप्रैल 2019 तक भारतीय अमेरिकी कांग्रेस महिला प्रमिला जयपाल के संचार निदेशक रहे। इससे पहले एक ट्वीट में वेदांत पटेल ने कहा था कि वह और उनका परिवार 1991 में अमेरिका चले गए थे।

उन्होंने कहा, “हम यहां 1991 में आए थे और यह उनके (माता-पिता के) बलिदान और कड़ी मेहनत के कारण है कि मैं यहां व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति के लिए काम कर रहा हूं।”

गौरतलब है कि प्रिया सिंह 2009 से 2010 तक ओबामा प्रशासन के दौरान पहली भारतीय अमेरिकी व्हाइट हाउस प्रेस सहायक थीं। राज शाह ने ट्रंप प्रशासन के तहत 2017 से 2019 तक व्हाइट हाउस के उप प्रेस सचिव के रूप में कार्य किया।

कुछ हफ्ते पहले मेघा भट्टाचार्य व्हाइट हाउस प्रेस शॉप में वेदांत पटेल के साथ शामिल हुईं। कुछ समय पहले तक सबरीना सिंह, जो कैलिफोर्निया की भी थीं, उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की उप प्रेस सचिव थीं।

Your email address will not be published.