भारत में कब अपने चरम पर होगी तीसरी लहर ? कब होगी खत्म ? क्या होगा असर ?

| Updated: January 15, 2022 11:49 am

देश भर में COVID-19 मामलों में तेज वृद्धि के बीच, सभी के मन में एक ही सवाल है यह लहर कब चरम पर जाएगी और कब खत्म होगी?

ओमिक्रॉन ने भारत में अपना पैर पसार लिया है | पिछले साल क्रिसमस पर 7,000 से थोड़ा कम दैनिक मामलों से लेकर 13 जनवरी को रिपोर्ट किए गए 2.4 लाख से अधिक मामले, इस लहर में अब तक की सबसे अधिक वृद्धि हैं दिल्ली और मुंबई जैसे हॉटस्पॉट में 7-11 जनवरी के बीच मामलों में गिरावट दर्ज की गई है, ऐसे संकेत समय से पहले हो सकते हैं क्योंकि उन्होंने अगले दो दिनों में तेज वृद्धि दर्ज की है।

गुजरात में लगातार बढ़ रहे हैं मामले


कोरोना की तीसरी लहर का पीक कब?
अमेरिकी रिसर्च सेंटर आईएचएमई (IHME) के डायरेक्टर डॉक्टर क्रिस्टोफर मुरे (Christopher Mure) ने अनुमान जताया है कि भारत में कोरोना की तीसरी लहर का पीक अगले महीने फरवरी में आ सकता है. डेल्ट वेरिएंट की लहर के मुकाबले इस बार कोरोना के मामले ज्यादा आएंगे लेकिन नया वेरिएंट ओमिक्रॉन कम गंभीर है. भारत में जब कोरोना की तीसरी लहर का पीक आएगा तो हर दिन लगभग 5 लाख से ज्यादा मामले सामने आएंगे.

आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल

भारतीय एक्सपर्ट ने जताया ये अनुमान
वहीं आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल का अनुमान अमेरिकी एक्सपर्ट से अलग है. प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल के मुताबिक, भारत में कोरोना की तीसरी लहर का पीक इसी महीने आ सकता है. इस बार दूसरी लहर से ज्यादा मामले रजिस्टर होंगे. लेकिन पीक पर जाने के बाद मामलों की संख्या तेजी से घटेगी. मार्च तक कोरोना की तीसरी लहर का पीक लगभग खत्म हो जाएगा.
इन शहरों में पहले आएगा कोरोना का पीक
प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल के अनुसार, दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में कोरोना की तीसरी लहर का पीक अगले कुछ दिनों में दिखेगा. जनवरी के खत्म होने तक मामलों की संख्या इन शहरों में तेजी से कम हो जाएगी. ओमिक्रॉन से घबराने की जरूरत नहीं है.

Your email address will not be published.

Plate