WHO ने कोरोना से ठीक होने के लिए दो नई दवाओं, बारिसिटिनिब और सोट्रोविमैब का सुझाव दिया

| Updated: January 16, 2022 5:40 pm

डब्ल्यूएचओ ने पिछले हफ्ते ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में एक विस्तृत रिपोर्ट में कोरोना से ठीक होने के लिए के लिए दो नई दवाओं, बारिसिटिनिब और सोट्रोविमैब का सुझाव दिया था। 14 जनवरी को जारी बयान में कहा गया है कि किस हद तक जिंदगियां बचाई जाएंगी यह इन दवाओं की उपलब्धता और सामर्थ्य पर निर्भर करता है।

Baricitinib- एक मौखिक दवा, संधिशोथ के उपचार में उपयोग की जाती है, लेकिन केवल गंभीर और गंभीर रूप से प्रभावित कोविड सकारात्मक लोगों के लिए। Baricitinib दवाओं के ‘Janus Kinase Inhibitors’ वर्ग से संबंधित है, यह दवा अतिसक्रिय प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करती है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि इसे डेक्सामेथासोन जैसे कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के साथ प्रशासित करने की आवश्यकता है, जो कि कोविड से गंभीर रूप से प्रभावित रोगियों के इलाज में उपयोग की जाने वाली एक अन्य दवा है।

सोट्रोविमैब नामक एक अन्य दवा की सिफारिश हल्के और मामूली प्रभावित रोगियों के लिए की गई है, जिन्हें अस्पताल में भर्ती होने का उच्च जोखिम है। इसमें मधुमेह, उच्च रक्तचाप और मोटापे से पीड़ित रोगी और वे लोग भी शामिल हैं जिनका टीकाकरण नहीं हुआ है, वे वृद्ध नागरिक भी हैं जो प्रतिरक्षाविहीन हैं। यह दवा कासिरिविमैब-इमदेविमाब का एक विकल्प है, जो एक मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कॉकटेल है जिसे सितंबर 2021 में कोविड के उपचार के लिए सुझाया गया था।

नवीनतम दवा सुझाव कोविड -19 के लिए दवाओं पर इसके दिशानिर्देशों का आठवां और सातवां अद्यतन है। ये पिछले सात परीक्षणों के साक्ष्य पर आधारित थे, जिसमें 4000 रोगी शामिल थे, जिनमें कोविड 19 के गंभीर लक्षण थे।

Your email address will not be published.