ये रिश्ता क्या कहलाता है – सोनू सूद की मदद से बिहार की बेटी का सूरत में हुआ आपरेशन

| Updated: June 10, 2022 1:53 pm

बिहार में चाहुमुखी नाम की एक लड़की का जन्म चार अंगों के साथ हुआ था। वह ढाई साल तक अपने चार हाथों और पैरों के साथ रही और बाद में सोनू सूद की मदद से उसका सफल ऑपरेशन किया। खास बात यह है कि यह ऑपरेशन गुजरात के सूरत शहर में किया गया है. चाहुमुखी बिहार के नवादा जिले के वारसालीगंज प्रखंड के सोर पंचायत के हेमदा गांव की रहने वाली हैं. बच्ची के ऑपरेशन का सारा खर्च सोनू सूद ने उठाया है। लड़की का सफल ऑपरेशन हुआ है और वह ठीक हो रही है।

लड़की को 30 मई को सूरत के किरण अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में डॉ मिथुन और उनकी टीम द्वारा 7 घंटे के सफल काम के बाद उनका पहला मेडिकल चेकअप हुआ और सफल सर्जरी हुई।

सूरत में सफल सर्जरी

लड़की के चार पैर और चार हाथ थे। जिसमें पेट में दो हाथ-पैर जख्मी हो गए। परिवार उसके इलाज का खर्च वहन नहीं कर सकता था। इसलिए उन्होंने लोगों से मदद लेने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया। मामला सोनू सूद तक पहुंचा जिसके बाद लड़की के ऑपरेशन पर चर्चा हुई। लड़की का हाल ही में एक सफल ऑपरेशन हुआ है। और वह स्वस्थ है।

30 मई को सोनू सूद ने इस सिलसिले में पहला ट्वीट किया-

सोनू सूद ने सबसे पहले 30 मई को अपनी बेटी की सर्जरी को लेकर ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था कि बिना टेंशन लिए उन्होंने इलाज शुरू कर दिया है. सिर्फ़ प्रार्थना करो।

सोनू सूद गरीबों के मसीहा हैं।

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद आज अपनी दरियादिली की वजह से पूरे देश में मशहूर हो गए हैं। उन्होंने कोरोना काल में गरीबों को उनके घर पहुंचाने के लिए बस सेवा शुरू की। उसने यह नेक काम इसलिए किया ताकि कोई भी गरीब व्यक्ति पैदल घर न जाए, जिसके बाद वह गरीबों की मदद के लिए हर संभव कोशिश करता है। कोई खेत के लिए जरूरी ट्रैक्टर गरीबों को देता है। तो कोई एक बच्चे के स्कूल के लिए भुगतान करता है। तो गांव में किसी के टूटे हुए घर की मरम्मत करनी है। सोनू सूद और उनकी टीम हर एक की जरूरतों को समझकर गरीबों की मदद करते हैं।

नवसारी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा आदिवासी मुख्यमंत्री के गांव में मैंने बनवायी पानी की टंकी

Your email address will not be published.