युवराज सिंह जडेजा ने “हार्दिक पटेल “पर लगाया पैसा लेने का आरोप

| Updated: June 8, 2022 5:46 pm

  • हार्दिक के 5 -15 लाख लेने के वीडियो का किया दावा

छात्र नेता युवराज सिंह जडेजा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गुजरात प्रवेश परीक्षा में गड़बड़ी को लेकर कई आरोप लगाए हैं. छात्र नेता युवराज सिंह जडेजा ने कहा कि यह घोटाला उन लोगों के बारे में है जो उच्च न्यायालय और अन्य परीक्षाओं में अवैध रूप से सरकारी नौकरियों में शामिल हुए हैं । इसके साथ ही कई प्रश्नपत्र भी लीक किये गए हैं। गुजरात चयन बोर्ड के मुख्य व्यक्ति हार्दिक पटेल पर भी बदले में पैसे लेने का आरोप लगाया।

इसके अलावा छात्र नेता ने बताया कि बगोदरा रोज स्थित जैन स्कूल में भी एक साथ 72 उम्मीदवार थे. एक परीक्षार्थी ने परीक्षा शुरू होने से पहले अन्य तीन उम्मीदवारों को अपने मोबाइल से वाट्सएप भी किया। उसका आधार प्रमाण भी है।

विज्ञापन संख्या 184 के अंकेक्षक के पत्र में भी अनियमितता पाई गई। इसी से जुड़े इस रैकेट को जयंती गोहेल, चंदू और मनसुख गोहेल चला रहे हैं. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि ये लोग साल 2016 के बाद के सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के पेपर लाए हैं. ये लोग छात्रों को बताते हैं कि हम सभी पेपर सेटिंग करते हैं और इसके लिए ये लोग 5 से 15 लाख रुपये भी वसूलते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि पेपर नंबर 192 की अनियमितता में भी इसी तरह की कार्यप्रणाली लागू की गई है. यह पहले की तरह ही काम करने के तरीके को दर्शाता है, कि ओएमआर में सभी उत्तर समान हैं। इन लोगों की ओएमआर सीट पर सभी सवालों के जवाब एक ही हैं. तो जिस अंक का प्रश्न का उत्तर गलत होता है वह दूसरों में भी गलत होता है। इन सबकी कार्यप्रणाली एक जैसी है। जिसमें अभ्यर्थी को ओएमआर सीट खाली रखनी होती है, जिसके बाद सेकेंडरी सर्विस मैन हार्दिक पटेल एक ही पेन से सभी उत्तर भर देते थे। एक ही पेन से 12 अभ्यर्थियों के उत्तर भरे गए।

इसके अलावा युवराज सिंह ने कहा कि हार्दिक पटेल, सेकेंडरी सर्विस की ओएमआर स्कैनिंग वहां की जा रही है. हार्दिक के कैश लेने के वीडियो भी हैं। अन्य लोग भी इसी तरह की कार्यप्रणाली करते हैं।

हार्दिक पटेल को मिलेगी सुरक्षा , बंद किया फेसबुक में कमेंट सेक्शन

Your email address will not be published.