युवराज सिंह जडेजा ने युवा नवनिर्माण सेना के गठन का एलान , चुनाव लड़ने से परहेज नहीं

| Updated: April 17, 2022 12:50 pm

जेल से जमानत पर छूटे छात्र नेता युवराज सिंह जडेजा ने अगले ही दिन बड़ा ऐलान किया है. युवराज सिंह जडेजा ने चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा कि संगठन, समिति या कोई भी दल बाद में वे चुनाव लड़ने का फैसला करेंगे।

जेल से जमानत पर छूटे छात्र नेता युवराज सिंह जडेजा ने अगले ही दिन बड़ा ऐलान किया है. युवराज सिंह जडेजा ने चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा कि संगठन, समिति या कोई भी दल बाद में वे चुनाव लड़ने का फैसला करेंगे।

उन्होंने कहा, “अगर मैं युवाओं की समस्याओं को हल करने के लिए लड़ सकता हूं तो मैं चुनाव लड़ूंगा।” इसी के साथ युवराज सिंह जडेजा ने एक नए संगठन का ऐलान किया है.

युवराज सिंह ने एक नए संगठन युवा नवनिर्माण सेना की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि युवा नवनिर्माण सेना शिक्षित युवाओं के अधिकारों के लिए काम करेगी। उन्होंने कहा, “मैं युवाओं के अधिकारों, हितों और हकों के लिए काम कर रहा हूं और आगे भी करता रहूंगा।”

उन्होंने कहा कि उनका नया संगठन युवा नवनिर्माण सेना राज्य स्तर के साथ-साथ जिला और तालुका स्तर पर शिक्षित युवाओं के अधिकारों के लिए काम करेगा। संगठन पहले सरकार से गुहार लगाएगा और फिर युवाओं के अधिकारों के लिए संघर्ष करेंगे ।

विदित हो एलआरडी परीक्षा पेपर लीक कांड के बाद चर्चा में आये थे।

गुजरात आप की युवा शाखा के नेता युवराज सिंह जडेजा को गांधीनगर की अदालत ने जमानत दे दी है, जिन्हें ड्यूटी पर पुलिसकर्मियों पर हमला करने और एक कांस्टेबल को उनकी कार के बोनट पर घसीटने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

आम आदमी पार्टी (आप) के नेता को एक स्थानीय अदालत के समक्ष पेश किया गया, जिसने पुलिस द्वारा उनकी रिमांड नहीं मांगे जाने के बाद उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था। जिसके बाद उन्होंने निचली अदालत में अपने वकील के माध्यम से जमानत याचिका दायर की थी ,अदालत ने जमानत याचिका पर सुनवाई के बाद जडेजा को इस शर्त के साथ जमानत दी गई है कि वह गांधीनगर में प्रवेश नहीं करेंगे।

अन्य आरोपों के अलावा, जडेजा को गांधीनगर पुलिस ने आईपीसी की धारा 307 के तहत “हत्या के प्रयास” के लिए गिरफ्तार किया था पुलिस शिकायत के मुताबिक उनके कृत्य के परिणामस्वरूप कांस्टेबल की मौत हो सकती थी। लोक रक्षक दल (LRD) पुलिस कांस्टेबल भर्ती के लिए लिखित परीक्षा 10 अप्रैल को निर्धारित है और राज्य सरकार घबराई हुई थी कि जडेजा फिर से भर्ती में अनियमितताएं सामने लाएंगे और उन्होंने उसे सलाखों के पीछे धकेल कर चुप करा दिया।आप नेता प्रवीण राम ने अहमदाबाद में प्रेस कांफ्रेंस में उनकी गिरफ्तारी के बाद उक्त आरोप लगाए थे।

आप नेता युवराज सिंह को मिली सशर्त जमानत

Your email address will not be published.