गुजरात में मुनावर फारूकी के कॉमेडी शो पर क्यों लगाई गयी रोक?

| Updated: September 28, 2021 12:33 pm

स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनावर फारूकी के गुजरात में आयोजित होने वाले किसी भी कार्यक्रमों की इजाजत नहीं दी जाएगी। बजरंग दल सहित हिंदू संगठनों ने उसके कार्यक्रमों के आयोजन का विरोध किया है और कार्यक्रम न होने देने पर अड़े रहे हैं। बजरंग दल ने फारूकी पर हिंदू देवी-देवताओं पर अश्लील कॉमेडी करके हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया था।

इससे पहले फारूकी ने 12 सितंबर को अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर ‘गुजरात प्रवास’ की घोषणा की थी। यह 1 अक्टूबर को सूरत में, 2 अक्टूबर को अहमदाबाद और 3 अक्टूबर को वडोदरा में कार्यक्रम करेगा ऐसा लिखा था। हालाकी फारूकी गुजरात के जूनागढ़ के रहने वाले हैं।

सूत्रों के मुताबिक, उत्तर गुजरात बजरंग दल के संयोजक ज्वालित मेहता ने कहा था की, हिंदू सहिष्णु हैं लेकिन बजरंग दल नहीं. “बजरंग दल एक समान और जैसे के साथ वैसा का दृष्टिकोण अपनाता है।” मेहता ने कहा कि हिंदुत्व समूह गुजरात में फारूकी के एक भी शो की अनुमति नहीं देगा। “अपना शो रद्द करें या वित्तीय, शारीरिक और मानसिक परिणामों का सामना करने के लिए तैयार रहें।” उन्होंने फारूकी के शो के आयोजकों को भी धमकी दी थी।

फारूकी को इंदौर में क्यों हिरासत में लिया गया था?

फारूकी को इस साल जनवरी में भारतीय जनता पार्टी के बेटे की शिकायत पर इंदौर में गिरफ्तार किया गया था। भाजपा विधायक मालिनी गौड़ा के बेटे एकलव्य ने फारूकी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने आरोप लगाया कि फारूकी कॉमेडी शो में हिंदू देवी-देवताओं के बारे में अपमानजनक बयान दे रहे थे। क्लब में शो होने से ठीक पहले फारूकी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। उसके साथ नलिन यादव, प्रखर व्यास, एडविन एंथनी और प्रियम व्यास समेत चार अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया था।

घटना के एक दिन बाद फारूकी के दोस्त सदाकत खान को गिरफ्तार कर लिया गया। सदाकत मुंबई में इंजीनियर हैं। अभियोजक एकलव्य सिंह गौर को कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

हालांकि, 4 जनवरी को इंदौर पुलिस ने स्वीकार किया कि उनके पास इस बात का कोई सबूत नहीं है कि फारूकी ने हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया था।

फारूकी को सुप्रीम कोर्ट ने 5 फरवरी को अंतरिम राहत दी थी। 12 फरवरी को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने एडविन एंथनी और उनके भाई प्रियम व्यास को भी जमानत दे दी थी।

Your email address will not be published. Required fields are marked *