कैलिफोर्निया में अपराधी ने कर दी सिख परिवार के चार लोगों की हत्या

| Updated: October 7, 2022 10:27 am

वाशिंगटन: एक अपराधी और पूर्व कैदी ने कैलिफोर्निया में एक सिख परिवार के चार सदस्यों की हत्या कर दी। इनमें एक आठ महीने की बच्ची भी शामिल है। इस जघन्य अपराध (brutal crime) ने  समुदाय को स्तब्ध कर दिया है। 27 वर्षीय जसलीन कौर, उनके पति जसदीप सिंह (36),  आठ महीने की बेटी आरोही और सिंह के बड़े भाई अमनदीप (39) का बुधवार दोपहर को उनके मर्सिड, कैलिफोर्निया स्थित व्यावसायिक कार्यालय (business office) से बंदूक की नोक पर अपहरण कर लिया गया था। इसके लगभग 48 घंटे बाद चारों मृत (dead) पाए गए। चारों की हत्या के आरोप में 48 वर्ष के मैनुअल सालगाडो को गिरफ्तार किया गया है। सालगाडो को 2005 में डकैती का दोषी ठहराया गया था। इसके लिए उसने 11 साल जेल में बिताए थे। हत्या के बाद उसने खुद को मार लेने की कोशिश की थी, लेकिन बच गया। घायल होने के कारण उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसे सिख परिवार के एटीएम कार्ड में से एक का इस्तेमाल करने की कोशिश करने के बाद ट्रैक किया गया था।

सिख परिवार कैलिफोर्निया के मर्सिड काउंटी में रहता था। उनके वंशज एक सदी से भी अधिक समय पहले पश्चिमी तट पर पहुंचे थे। उनका मुख्य रूप से कृषि और ट्रकिंग यानी ट्रांसपोर्ट का कारोबार था। इस परिवार ने हाल में ही ट्रांसपोर्ट का बिजनेस शुरू किया था। राज्य ने पहले एशियाई सांसद के रूप में कांग्रेसी दलीप सिंह सौंड को भी चुना था, जिन्होंने 1950 के दशक में प्रतिनिधि सभा में तीन कार्यकाल पूरे किए। समुदाय ने पिछले हफ्ते की शुरुआत में अमेरिका के सबसे बड़े आड़ू किसान (peach farmer) और अमेरिका के सबसे धनी कृषकों (wealthiest agriculturists) में से एक 84 वर्षीय दीदार सिंह बैंस को खो दिया था।

मर्सिड काउंटी के शेरिफ वर्न वार्नके ने कहा, “मेरे द्वारा महसूस किए गए गुस्से और इस घटना की संवेदनहीनता का वर्णन करने के लिए कोई शब्द नहीं हैं। इस आदमी (अपराधी) के लिए नरक में एक भी खास जगह मिले।” कैलिफोर्निया में चार लोगों के एक सिख परिवार के अपहरण के बाद लगभग 48 घंटों में उनकी मौत के फुटेज में पीड़ित जसदीप सिंह को सोमवार को सुबह 9 बजे मैनुअल सालगाडो के साथ लापरवाही से बातचीत करते हुए दिखाया गया है। अंडरशेरिफ कोरी गिब्सन ने कहा कि जसदीप और उनके भाई अमनदीप स्थानीय समयानुसार सुबह 8.30 बजे से 8.40 बजे के बीच कारोबार में पहुंचे। सालगाडो के साथ बातचीत करने के बाद दोनों अपने ऑफिस के गेट की ओर चल पड़े, जिसमें जसदीप सबसे आगे थे। गिब्सन ने कहा, “संदिग्ध ने एक सफेद कचरा बैग ले रखा था, जिसे उसने नीचे रख दिया। फिर उससे उसमें से एक गन निकाली।”

जसदीप और संदिग्ध कुछ मिनटों के लिए अंदर रहे और फिर वह और अमनदीप अपने हाथों को बांधे पीछे के दरवाजे से निकले। जाहिर तौर पर उनके हाथ पीठ के पीछे बांध दिए गए थे। अपहरणकर्ता हाथ में गन लेकर पीछे चल रहा था। वीडियो में यह भी दिखाया गया है कि अपहरणकर्ता ने अमनदीप और जसदीप को पहले से खड़े पिकअप ट्रक की पिछली सीट पर धकेल दिया और दूर चला गया। वह छह मिनट बाद लौटा। गिब्सन ने कहा कि वह फिर अंदर गया और जसदीप की पत्नी जसलीन और बेटी आरोही को बाहर ले आया।

अमनदीप और जसदीप के माता-पिता रणधीर सिंह और कृपाल कौर 29 सितंबर को ही कैलिफोर्निया से होशियारपुर जिले के अपने पैतृक गांव हरसी पिंड आए थे। अपहरण की खबर मिलने पर अमेरिका लौट आए। चंडीगढ़ में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने हत्याओं की निंदा की है। उन्होंने विदेश मंत्री एस जयशंकर के हस्तक्षेप करते हुए अमेरिकी सरकार से पूरी जांच करने की अपील की है। मान ने कहा कि भारत सरकार को अमेरिका में रह रहे पंजाबियों की सुरक्षा का मुद्दा वहां की सरकार के सामने उठाना चाहिए।

Also Read: गहलोत के प्रभार वाले गुजरात में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे खड़गे

Your email address will not be published. Required fields are marked *