गुजरात भाजपा प्रमुख सी.आर पाटिल ने बदलवाई एफएसएल रिपोर्ट , आप नेता ईशुदान ने लगाया आरोप

| Updated: January 3, 2022 4:45 pm

गुजरात में वरिष्ठ लिपिक परीक्षा पेपर लीक कांड से शुरू हुयी सियासत अब ईशुदान गढ़वी के ” शराब रिपोर्ट ” पर केंद्रित होते नजर आ रही है | एफएसएल की रिपोर्ट में ईशुदान गढ़वी के शराब पीने की पुष्टि के बाद जिस तरह से समाज के विभिन्न तबकों से ईशुदान को समर्थन मिला है उससे उत्साहित गढ़वी अब इसे सियासी तौर भुनाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते | सोमवार को पत्रकार परिषद आयोजित कर पत्रकार से नेता बने गढ़वी सत्ताधारी दल पर हमलावर रहे | उन्होंने एफएसएल रिपोर्ट को झूठी बताते हुए एक बार फिर अपनी कुल देवी की सौगंध खाते हुए दोहराया की उन्होंने

कभी शराब नहीं पी है |

भाजपा प्रदेश प्रमुख सी आर पाटिल को निशाने पर लेते हुए उन्हें “सुपरसीएम ” निरूपित किया | जब पत्रकारों ने उनसे पूछा की किसके कहने पर रिपोर्ट बदली गयी तो ईशुदान गढ़वी ने कहा की सुपर सीएम कौन है ? सी आर पाटिल | शराब टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद आप नेता इसुदान गढ़वी की पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस
में कहा “मैंने अपने जीवन में कभी शराब नहीं पी है ” सिविल अस्पताल में डॉक्टर ने मेरी आँख तथा साँस की जाँच की थी , तब रिपोर्ट नेगेटिव थी


मुझे सिविल अस्पताल में सैंपल देने के 48 घंटे के अंदर रिपोर्ट करने को कहा गया था ,जब हम विपक्ष की भूमिका में हों तो स्वाभाविक है कि ऐसे आरोप लगते रहेंगे | जब हम विपक्ष की भूमिका में हों तो स्वाभाविक है कि ऐसे आरोप लगते रहेंगे | बीजेपी ने हमें कई तरह से प्रताड़ित किया |

उन्होंने कहा वह कैमरा के सामने “लाई डिटेक्टर टेस्ट ” कराने के लिए तैयार हैं | लेकिन वह गैर भाजपा शासित राज्य में हो क्योकि यंहा तो एफएसएल का खेल देख ही लिया है |आम आदमी पार्टी के गुजरात के चेहरा बन चुके ईशुदान अपने कानूनी सलाहकारों और आप गुजरात इकाई के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ गिरफ्तारी देने के लिए इफोसिटी पुलिस स्टेशन के लिए रवाना हो गए | क़ानूनी सलाह के लिए खासतौर से दिल्ली से उच्चतम न्यायलय के अधिवक्ता और आम आदमी पार्टी के क़ानूनी सेल के प्रमुख ऋषिकेश कुमार उनके साथ थे |पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने के कुछ ही देर बाद उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया |

क्या है मामला
वरिष्ठ लिपिक परीक्षा पेपर लीक मामले में आसित वोरा के खिलाफ मामला दर्ज करने तथा उनके इस्तीफे की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने ईशुदान गढ़वी तथा गोपाल इटालिया के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मुख्यालय कमलम में 20 दिसंबर को धावा बोल दिया था , जिसमे भाजपा की महिला कार्यकर्ता सपना राजपूत ने शिकायत दर्ज कराई थी ईशुदान गढ़वी शराब के नशे में थे ,उन्होंने तोड़फोड़ के साथ उनके साथ छेड़खानी की है ,

जिसके आधार पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर पहले अहमदाबाद सिविल अस्पताल में उनकी जाँच कराई थी , जिसमे पूर्व पत्रकार और आम आदमी पार्टी के नेता गढ़वी की रिपोर्ट निगेटिव आयी थी | 14 दिन बाद एफएसएल रिपोर्ट पॉजिटिव आयी | विदित हो की कमलम में तोड़फोड़ के मामले में गढ़वी , गोपाल इटालिया समेत 55 नेता -कार्यकर्ता 12 दिन के बाद साबरमती जेल से बाहर आये थे , जहा उनका भव्य स्वागत किया गया था , जिसके बाद गढ़वी ने कहा था कि जिंदगी में केवल एक बार सिगरेट पी है ,वह भी मार खाने के बाद दुबारा कभी नहीं पी |

शराब को तो कभी हाथ नहीं लगाया | अगर शराब कोई पीता है तो सरकार को इस्तीफ़ा दे देना चाहिए क्योकि गुजरात मे तो शराब प्रतिबंधित है ,लेकिन 24 घंटे के भीतर ही गढ़वी के रक्त जाँच की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है | अब गढ़वी मानहानि का दावा करने की बात कर रहे हैं |

Your email address will not be published.