राजस्थान में अत्यधिक शीत लहर के साथ घिरे बादल

| Updated: January 23, 2023 2:29 pm

रविवार को तेज पश्चिमी विक्षोभ (western disturbances) और उत्तरी हवाओं (northerly winds) के शांत होने से पारे में लगातार वृद्धि हुई। इसके अतिरिक्त, राजस्थान के उत्तरी और पूर्वी क्षेत्रों के कुछ क्षेत्रों में कोहरा, धुंध और हल्की बारिश हुई।

न्यूनतम तापमान 2.8 डिग्री सेल्सियस के साथ सिरोही में राज्य का सबसे कम तापमान बना रहा। रविवार की सुबह से शुरू होकर पूरे दिन राज्य के अधिकांश स्थानों पर घना कोहरा और धुंध की स्थिति रही।

जयपुर में बादल छाने से लोगों की नींद खुली और दिन भर सूरज लुकाछिपी खेलता रहा। शहर में सुबह न्यूनतम तापमान 10.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जिससे हाड़ कंपा देने वाली ठंड से कुछ राहत मिली।

जयपुर मौसम कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा, “सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ ने उत्तरी हवाओं को धीमा कर दिया है, और इसलिए जयपुर और राज्य के अन्य हिस्सों में तापमान बढ़ रहा है।”

मौसम विभाग ने कहा कि बीकानेर, जयपुर और भरतपुर संभागों के साथ-साथ राज्य के कुछ इलाकों में सोमवार से मौसम खराब रहने और बारिश होने का अनुमान है।

सीकर जिले के पलसाना गांव के किसान नेतराम सैनी ने कहा, “सरसों सहित फसलों पर नजर रखने वाले किसानों को मध्य जनवरी की बारिश का हमेशा इंतजार रहता है, क्योंकि यह फसलों के लिए बहुत फायदेमंद है।”

सिरोही के बाद करौली आया, जहां न्यूनतम तापमान 5-2 डिग्री सेल्सियस, चुरू में 5.5, फलौदी (जोधपुर) में 5.8, जैसलमेर में 6.7, उदयपुर में 7.0, अलवर में 8.3, बूंदी में 8. 4, सीकर 10.2, जोधपुर 11.0 और अजमेर में 12.7 डिग्री तापमान दर्ज किया गया।

मौसम विभाग ने कहा कि चल रहे पश्चिमी विक्षोभ के कारण अधिकांश क्षेत्रों में सोमवार से हल्की बारिश होने की संभावना है। खराब मौसम के बावजूद गुरुवार से तापमान में बढ़ोतरी होगी।एक अधिकारी ने कहा, “चुरू, फतेहपुर और सीकर को छोड़कर अधिकांश स्थानों पर गुरुवार से बादल छाए रहने के बाद भी तापमान में वृद्धि देखी जाएगी।”

और पढ़ें: नेताजी को ब्रिटिश शासन के साहसिक प्रतिरोध के लिए याद किया जाएगा: पीएम मोदी

Your email address will not be published. Required fields are marked *