अपनी आक्रामकता के सहारे उत्तरप्रदेश में भाजपा को दे चुनौती दे रहे हैं अखिलेश , गुजरात पर भी बदलाव का दावा - Vibes Of India

Gujarat News, Gujarati News, Latest Gujarati News, Gujarat Breaking News, Gujarat Samachar.

Latest Gujarati News, Breaking News in Gujarati, Gujarat Samachar, ગુજરાતી સમાચાર, Gujarati News Live, Gujarati News Channel, Gujarati News Today, National Gujarati News, International Gujarati News, Sports Gujarati News, Exclusive Gujarati News, Coronavirus Gujarati News, Entertainment Gujarati News, Business Gujarati News, Technology Gujarati News, Automobile Gujarati News, Elections 2022 Gujarati News, Viral Social News in Gujarati, Indian Politics News in Gujarati, Gujarati News Headlines, World News In Gujarati, Cricket News In Gujarati

अपनी आक्रामकता के सहारे उत्तरप्रदेश में भाजपा को दे चुनौती दे रहे हैं अखिलेश , गुजरात पर भी बदलाव का दावा

| Updated: January 30, 2022 10:29

राज्य के मतदाता उन लोगों को सबक सिखाएंगे जो महात्मा गांधी के हत्यारों का सम्मान कर रहे हैं और यूपी चुनाव के नतीजे खुशी लाएंगे।उन्होंने यह भी कहा: "आज मुझे खुशी है कि जयंत चौधरी जी मेरे साथ हैं ।

उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों के लिए सात चरणों में होने वाले मतदान के पहले भी चुनाव प्रचार अपने रंग आ चूका है ,पहले चरण का मतदान भले ही 10 फरवरी को हो लेकिन प्रचार की दिशा बता रही रही है की आखरी चरण का मतदान जब 7 मार्च को होगा तब तक सांप्रदायिक और जहर बुझे बयानी तीरो से एक दूसरे को घायल करने की कोई कमी नहीं छोड़ी जाएगी । साम्प्रदायिकता और आक्रमकता इस चुनाव प्रचार का आधार बनेगे | आक्रमकता चरणबध्द तरीके से बढ़ती जाएगी ,जिसके संकेत पहले चरण में ही मिलने लगे हैं |

आक्रामकता और विपक्ष को अपने पिच पर लाकर खेलने के लिए मजबूर करने में भाजपा माहिर है ,कई चुनाव उन्होंने अपने इसी खूबी के कारण जीते भी है ,लेकिन उत्तरप्रदेश चुनाव के कुछ महीने पहले एक तरफ़ा दिख रहे मुकाबले को समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव अपनी आक्रामकता के कारण दो ध्रुवीय बना दिया है | वह भाजपा के साथ साथ मिडिया के भी एक समूह के साथ आक्रामक है जो उनके समर्थको को खूब रास भी आ रहा है |

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में अपनी पार्टी की सरकार बनाने का भरोसा जताते हुए शनिवार को कहा कि आगामी चुनाव आश्चर्यजनक परिणाम नहीं देंगे, लेकिन दावा किया कि “असली आश्चर्य” इस साल होने वाले गुजरात विधानसभा चुनावों में होगा। इस बहाने वह प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को निशाने पर भी रखते है और 2024 के राष्ट्रीय चुनाव को लेकर भी संकेत देते हैं |

उन्होंने यह भी दावा किया कि उत्तर प्रदेश के लोग पहले ही अपना फैसला दे चुके हैं और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) “नर्वस” है।राष्ट्रीय लोक दल के नेता जयंत चौधरी के साथ एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, सपा प्रमुख ने कहा, “एक पहलवान जो हार जाता है कभी-कभी काटता या खींचता है।

ये लोग (भाजपा) पहले ही हार चुके हैं।”“उत्तर प्रदेश के लोगों ने अपना फैसला दे दिया है। यहां कोई आश्चर्य नहीं होने वाला है। किसान, युवा व्यापारी, सभी वर्ग के लोगों ने मन बना लिया है कि समाजवादी पार्टी के गठबंधन वाले ही सरकार बनाने जा रहे हैं।

उन्होंने कहा, “असली आश्चर्य गुजरात से आएगा जहां उत्तर प्रदेश के बाद चुनाव होने हैं।”सरकार द्वारा विवादास्पद तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के बारे में पूछे जाने पर, अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने किसानों को “अपमानित” किया। “किसान कैसे भूल सकते हैं कि भाजपा ने देश के अन्नदाता (खाद्य प्रदाताओं) का अपमान किया है?”

उन्होंने यह भी कहा कि राज्य के मतदाता उन लोगों को सबक सिखाएंगे जो महात्मा गांधी के हत्यारों का सम्मान कर रहे हैं और यूपी चुनाव के नतीजे खुशी लाएंगे।उन्होंने यह भी कहा: “आज मुझे खुशी है कि जयंत चौधरी जी मेरे साथ हैं और हम दोनों मिलकर किसानों के लिए लड़ने के लिए काम कर रहे हैं।”

चौधरी चरण सिंह ने किसानों की समृद्धि के लिए लड़ाई लड़ी, इस पर प्रकाश डालते हुए, सपा प्रमुख ने कहा, “यहां के किसानों के लिए लड़ने वाले सभी लोगों के पास चौधरी चरण सिंह जी की विरासत को बचाने और आगे बढ़ाने का मौका है और यह चुनाव भी है।

Your email address will not be published. Required fields are marked *