गुजरात विधानसभा चुनाव: इसुदान गढ़वी आप के सीएम चेहरा

| Updated: November 4, 2022 7:32 pm

गुजरात विधानसभा चुनाव (Gujarat Assembly Election )के लिए आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party )ने अपना सीएम कैंडिडेट (CM Candidate) घोषित  कर दिया है। गुजरात में   इसुदान गढ़वी (Isudan Ghadvi )आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बनाए गए। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal )ने शुक्रवार (4 नवंबर) को इसकी घोषणा की। तटीय सौराष्ट्र के देवभूमि द्वारका जिले के जामखंभालिया के मूल निवासी, गढ़वी ने गुजरात विद्यापीठ ( Gujarat Vidyapeeth )में पत्रकारिता और जनसंचार का अध्ययन किया किया है। गढ़वी गुजरात का ओबीसी समाज का एक हिस्सा है। ओबीसी समाज गुजरात में सबसे अधिक 49 प्रतिशत आबादी वाला समाज है।

मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित होने के बाद भावुक इसुदान गढ़वी

आप के राष्ट्रीय समन्वयक अरविंद केजरीवाल( AAP National Coordinator Arvind Kejriwal )ने अहमदाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसुदान गढ़वी (Isudan Ghadvi )के नाम का ऐलान किया। इस दौरान उनके साथ पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान Punjab Chief Minister Bhagwant Mann और गुजरात आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष गोपाल इटालिया (Gujarat Aam Aadmi Party President Gopal Italia )भी मौजूद रहे। सीएम केजरीवाल ने कहा, “हमारे पास 16,48,500 के करीब रिस्पॉन्स आए। इनमें 73 प्रतिशत लोगों ने इसुदान गढवी का नाम लिया।”

आप सुप्रीमो ने कहा, ‘हम यह तय नहीं करते हैं कि एक कमरे में बैठकर सीएम उम्मीदवार कौन होगा। भगवंत मान को आप ने नहीं बल्कि पंजाब की जनता ने मुख्यमंत्री चुना था। ऐसे समय में जब लगता है कि आप की सरकार बनेगी, आज हम आप के सीएम उम्मीदवार की घोषणा नहीं कर रहे हैं, बल्कि अगली गुजरात सरकार के लिए सीएम की घोषणा कर रहे हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री के संबोधन की शुरुआत पटाखों से हुई, इसके बाद मोरबी पुल ढहने के पीड़ितों के लिए एक क्षण का मौन रखा गया।

मंच पर आने के दौरान खुश नजर आते आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल और अन्य

घोषणा के बाद, गढ़वी ने मनोज सोरठिया और युवराज सिंह जडेजा जैसे पार्टी सहयोगियों को गले लगाया और अपनी मां का आशीर्वाद लेने के लिए मंच से नीचे उतर गए। इस दौरान वह भावुक हो गए।  इस दौरान गढ़वी की माँ मणि बेन , धर्मपत्नी हीरल गढ़वी समेत पूरा परिवार उपस्थित था।

आंसू पोछते हुए गढ़वी ने कहा, “मेरे जैसे विनम्र किसान के बेटे को अरविंद केजरीवाल की राजनीति में इतनी बड़ी जिम्मेदारी दी गई है।” उन्होंने कहा, “मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगा और तब तक आराम नहीं करूंगा जब तक कि मैं गुजरात के लिए अपना सब कुछ नहीं दे देता। भगवान ने मुझे सब कुछ दिया है। अब मैं अपने साथी गुजरातियों को उनकी जरूरत की हर चीज देना चाहता हूं। मैं अपनी आखिरी सांस तक लोगों की सेवा करूंगा।”

गढ़वी ने कहा की किसानों की वह आवाज बनेंगे , व्यापारियों की आवाज बनेंगे।  आम आदमी की आवाज बनेंगे।

गढ़वी ने कहा कि वह कभी भी राजनीति में नहीं आना चाहते थे। “अरविंद केजरीवाल ने मुझसे कहा, आप आम आदमी के मुद्दे उठाते हैं, आप जैसे लोगों को राजनीति में आना चाहिए। अगर आप और मैं जैसे लोग राजनीति में नहीं आते हैं, तो भ्रष्ट लोगों की खुली छूट होगी। राजनीति मेरी इच्छा नहीं बल्कि मेरी मजबूरी है।

इसुदान गढ़वी की पत्नी हीरल गढ़वी अभिवादन करते हुए

इस दौरान इसुदान गढ़वी की पत्नी हीरल गढ़वी ने कहा “इसुदान पहले भी आप आदमी के लिए आवाज उठाते थे , अब भी आम आदमी के लिए आवाज उठाएंगे। वह इसे बेहतर कदम मानती है।  उनके मुताबिक सबसे मुश्किल वक्त तब था ,”जब उन पर शराब पीकर छेड़खानी का आरोप लगा , जबकि सब कोई जनता है कि उनने कभी शराब को हाथ नहीं लगाया लेकिन हमें भरोसा था उन पर  “अब वह गुजरात की शिक्षा और स्वास्थ के लिए काम करेंगे।

माँ मणिबेन गढवी से गले मिलते हुए गढ़वी

वही पत्रकार से नेता बने 39 वर्षीय गढ़वी की माँ मणिबेन जो एक गृहणी हैं ने वाइब्स आफ इंडिया से कहा ” आज का ख़ुशी का दिन है।  इसु अब गुजरात की बेहतरी के लिए काम करेगा।

 आम आदमी पार्टी ने एक हफ्ते पहले अपने समर्थकों और कार्यकर्ताओं से ईमेल, फोन कॉल, एसएमएस और व्हाट्सएप संदेशों के जरिए गुजरात में मुख्यमंत्री उम्मीदवार की अपनी पसंद का रजिस्ट्रेशन कराने को कहा था।

राजनीति में आने से पहले आप  के सीएम कैंडिडेट इसुदान गढवी पत्रकार थे। वह गुजरात के लोकप्रिय TV एंकर रहे हैं। उन्होंने जून 2021 में आप की सदस्यता ली थी। इसुदान गढ़वी फिलहाल आप के राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव हैं।

तस्वीर – हानिफ सिंधी

गुजरात विधानसभा चुनाव : 1 और 5 दिसंबर को दो चरणों में वोटिंग, 8 दिसंबर को हिमाचल के साथ नतीजे

Your email address will not be published. Required fields are marked *