भाजपा कार्यालय जाना पड़ा महंगा ,गोपाल इटालिया समेत आप कार्यकर्ताओ को पीटा

| Updated: May 2, 2022 8:21 pm

लगातार दूसरे दिन आप नेताओं की पिटाई हुयी। गतरोज सूरत नगर पालिका में विरोध प्रदर्शन कर रहे आप के पार्षदों सहित कार्यकर्ताओं ने कल पुलिस और मार्शल ने पीटा था ,जिसमे महिला पार्षद कुंदन कोठिया की कमीज फट गयी जबकि 2 पुरुष नगरसेवक घायल हो गए थे

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले आम आदमी पार्टी और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष वैचारिक होने की बजाय हिंसक होता जा रहा है। लगातार दूसरे दिन आप नेताओं की पिटाई हुयी। गतरोज सूरत नगर पालिका में विरोध प्रदर्शन कर रहे आप के पार्षदों सहित कार्यकर्ताओं ने कल पुलिस और मार्शल ने पीटा था ,जिसमे महिला पार्षद कुंदन कोठिया की कमीज फट गयी जबकि 2 पुरुष नगरसेवक घायल हो गए थे .

जिसके विरोध में आम आदमी पार्टी के पदाधिकारी प्रदेश प्रमुख गोपाल इटालिया के नेतृत्व में सूरत भाजपा मुख्यालय गए थे ,जहा पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनकी जमकर पिटाई की , एक कार्यकर्ता को पांच लोगों ने घिरा कर मारा , गोपाल इटालिया पर भी हाथ साफ करने से नहीं चुके , वही दिनेश कछाड़िया , दक्षिण गुजरात प्रभारी राम धडूक भी लहूलुहान हो गए , कई नेताओं के कपडे फट गए।

गोपाल इटालिया समेत 10 गिरफ्तार

देर शाम उधना पुलिस के सहायक उपनिरीक्षक धर्मेंद्र झाला की शिकायत के आधार पर उधना पुलिस ने आप के 16 पदाधिकारियों के खिलाफ पुलिस आयुक्त की अधिसूचना भंग तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 143 ,145 ,146 ,147 के तहत गोपाल इटालिया ,राम धडूक , मथुर बलदाड़िया ,श्रवण जोशी ,जगेंद्र सिंह राठौड़ समेत 16 लोगो के खिलाफ मामला दर्ज किया है। गोपाल इटालिया ,राम धडूक , मथुर बलदाड़िया ,श्रवण जोशी ,जगेंद्र सिंह राठौड़ समेत 10 नेताओ को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है।

यह सब पुलिस की मौजूदगी में हुआ। भाजपा कार्यकर्ता खालिस्तान मुर्दाबाद और भारत माता की जय के नारे लगा रहे थे। वही आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के हाथ में सी आर पाटिल के खिलाफ पोस्टर थे।

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता सूरत में भाजपा कार्यालय आने की घोषणा के बाद भाजपा नेतृत्व ने पुलिस के साथ ही अपने युवा मोर्चा तथा अल्पसंख्यक मोर्चा के पदाधिकारियों को बुला लिया था , लेकिन आप के कार्यकर्ता डेढ़ घंटे बाद विलम्ब से पहुंचे ,अचानक उनके आने से पुलिस ने कुछ कार्यकर्ताओ को हिरासत में लेने की कोशिश की लेकिन कुछ कार्यकर्ता भाजपा कार्यालय की ओर जाने की कोशिश की , जिसके भाजपा कार्यकर्ता सड़क पर आ गए और दौड़ा दौड़ा कर पीटा।

उन्हें भाजपा कार्यालय आने की क्या जरूरत थी

शहर भाजपा प्रमुख नीराजन झांझमेरा ने वाइब्स आफ इंडिया से कहा की आप तनाव पैदा करना चाहती है , उन्हें भाजपा कार्यालय में आने की क्या जरुरत थी।शहर भाजपा प्रमुख नीराजन झांझमेरा ने वाइब्स आफ इंडिया से कहा की आप तनाव पैदा करना चाहती है , उन्हें भाजपा कार्यालय में आने की क्या जरुरत थी।
उनने हमारे कार्यकर्ताओं पर हमले की कोशिश की थी।


गुजरात की जनता देख रही है -इसुदान गढ़वी

वही आम आदमी पार्टी के इसुदान गढ़वी ने कहा की गुजरात की जनता देख रही है किस तरह भाजपा के लोग पुलिस की मौजूदगी में हिंसक हमला कर रहे हैं , हमारे किसी कार्यकर्ता ने हाथ नहीं उठाया , आम आदमी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल सूरत पुलिस आयुक्त अजय तोमर से मिलकर भारतीय दंड सहिंता की धारा 307 , 120 बी ,323 ,326 के तहत मामला दर्ज करने की कोशिश में हैं।

अरविन्द केजरीवाल ने ट्ववीट किया

आप सुप्रीमो अरविन्द केजरीवाल ने ट्ववीट किया “देखिए इन गुंडों लफ़ंगों को। खुलेआम मारपीट कर रहे हैं। देशभर में गुंडागर्दी कर रखी है। ऐसे देश आगे बढ़ेगा? ये लोग कभी आपके बच्चों को अच्छी शिक्षा, रोज़गार नहीं देंगे।क्योंकि इन्हें राजनीति के लिए बेरोज़गार गुंडे और लफ़ंगे चाहिए

सभी देशभक्त युवाओं को इनके ख़िलाफ़ एकजुट होना होगा” आम गुजरात प्रभारी गुलाब सिंह ने एक के बाद एक ट्वीट कर भाजपा को कठघरे में लिया , उन्होंने लिखा 2 दिन से @CRPaatil के गुंडे “aap” के कार्यकर्ताओं को बर्बरतापूर्ण तरीक़े से पीट रहें हैं,इन गुंडों नें कभी कांग्रेस के लोगों नहीं पीटा जिससे साफ़ मालूम होता हैं दोनों एक ही पार्टी हैं।

“AAP” का एक-एक कार्यकर्ता गुजरात के लोगों के लिए अपनी जान भी देनी पडी तों पीछे नहीं हटेगा।

गांधीनगर कमलम में तैनात पुलिस , बुलाये कार्यकर्ता

सूरत की घटना के बाद प्रदेश भाजपा नेतृत्व को उम्मीद थी कि आप कार्यकर्ता गांधीनगर कमलम में आकर विरोध प्रदर्शित कर सकते हैं , जिससे एक डीवायएसपी, पीआई को तैनात दिया ,साथ ही सुरक्षा भी बढ़ा दी , कमलम में युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं का आना शुरू हो गया लेकिन कुछ घंटो में जब कोई नहीं आया तो कार्यकर्ता वापस चले गए।

जिग्नेश मेवाणी का आरोप पीएमओ के कहने रची गयी गिरफ्तारी की साजिश

Your email address will not be published.