राष्ट्रीय अग्निशामक दिवस – मन्दबुध्दी महिला का टॉयलेट में प्रसव ,कमोड में फंसे नवजात को बचाया

| Updated: April 14, 2022 2:44 pm

राष्ट्रीय अग्निशामक दिवस पर अग्निशामक कर्मियों ने एक नवजात को नया जीवन देकर राष्ट्रीय अग्निशामक दिवस की सार्थकता साबित की है। अहमदाबाद शहर के पालड़ी क्षेत्र के एक विकास गृह में मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला को शौचालय में प्रसव पीड़ा हुयी , लेकिन प्रसव के दौरान नवजात कमोड में फंस गया. एक नवजात शिशु के शौचालय के कमोड में फंसने की सूचना अग्निशामक दल को दी गयी । 25 मिनट की मशक्कत के बाद नवजात कमोड से निकलकर इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल ले जाया गया।

25 मिनट में टाइल्स तोड़कर निकाला नवजात को

मिली जानकारी के अनुसार शहर के पालड़ी विकास गृह में एक मंदबुद्धि महिला के शौचालय में प्रसव पीड़ा के दौरान नवजात शौचालय के कमोड में फंस गया. महिला ने बताया कि बच्चे का मुंह सीधे कमोड में फंस गया। महिला ने इसकी जानकारी बाहर मौजूद लोगों को दी , उन्होंने तत्काल अग्निशामक दल को सूचना दी , मौके पर अग्निशामक दल ने पहुंच कर सावधानी से नवजात का बचाव करते हुए सबसे पहले अग्निशामक दल ने शौचालय में आसपास की टाइल्स को तोड़ा। उसके बाद नीचे से जगह बनाकर नवजात को बाहर निकाला

नवजात का सिर कमोड में और शरीर था बाहर

चूंकि नवजात का शरीर ऊपर था और उसका मुंह अभी भी अंदर फंसा हुआ था, उसे बाहर निकालने के लिए पाइप से उसका कनेक्शन हटा दिया गया था। बाद में कमोड का एक हिस्सा धीरे-धीरे तोड़कर बच्चे को सकुशल बाहर निकाला गया। दमकल की टीम ने 25 मिनट के अंदर बच्चे को बचा लिया और 108 एंबुलेंस से आगे के इलाज के लिए अस्पताल भेजा. गनीमत रही कि बच्चे को किसी तरह की चोट नहीं आई।

कांग्रेस को बड़ा झटका, इंद्रनील राजगुरु आप में शामिल

Your email address will not be published.