Site icon Vibes Of India

जीतू वाघाणी के निर्वाचन क्षेत्र में ही छात्रों के बैठने की व्यवस्था नहीं ,स्कूल की दीवार टूटी -मनीष सिसोदिया

जीतू वाघाणी के निर्वाचन क्षेत्र में ही छात्रों के बैठने की व्यवस्था नहीं ,स्कूल की दीवार टूटी -मनीष सिसोदिया

जीतू वाघाणी के निर्वाचन क्षेत्र में ही छात्रों के बैठने की व्यवस्था नहीं ,स्कूल की दीवार टूटी -मनीष सिसोदिया

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष कुमार सिसोदिया ने अब गुजरात के शिक्षा मंत्री जीतू वाघाणी के निर्वाचन क्षेत्र के स्कूलों का दौरा किया ,इस दौरान उन्होंने कहा कि यंहा बच्चों के बैठने की व्यवस्था नहीं है , दीवारटूटी हुयी है। मेरे आने के कारण कुछ चीजें ठीक की गयी है

इसके पहले वह लिए अहमदाबाद एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद वे सीधे भावनगर गए हैं और गुजरात के बहुचर्चित मॉडल की स्कूलों का हाल देखने गए हैं. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “मैं गुजरात में स्कूलों को देखने के लिए उत्सुक हूं, जब गुजरात में पिछले 27 वर्षों से भाजपा की सरकार है।” मैं देखना चाहता हूं कि सरकारी स्कूलों में भाजपा ने क्या बदलाव किया है व्यवस्था कितनी बेहतर हुयी है .

https://www.vibesofindia.com/wp-content/uploads/2022/04/aap-video.mp4

हम गुजरात में वैसे ही स्कूल बनाएंगे जैसे दिल्ली में अच्छे स्कूल बने हैं

गुजरात के शिक्षा मंत्री ने कहा कि जिन्हें गुजरात की शिक्षा व्यवस्था पसंद नहीं है उन्हें बाहर जाना चाहिए. अपने जवाब में, सिसोदिया ने उनसे पूछा कि क्या वह गुजरात में स्कूल और कॉलेज ठीक करेंगे। बल्कि इस तरह की मनमानी करेंगे। इससे पहले आप के स्थानीय नेता इसुदान गढ़वी ने कहा था कि शिक्षा मंत्री ने कुछ भी कहा हो, किसी को भी गुजरात छोड़ने की जरूरत नहीं है। राज्य में आठ महीने बाद आम आदमी पार्टी सरकार बनाएगी और उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा देगी। हम गुजरात में वैसे ही स्कूल बनाएंगे जैसे दिल्ली में अच्छे स्कूल बने हैं। हम गुजरात को शिक्षा के मोर्चे पर भी अग्रणी बनाएंगे।

गुजरात की शिक्षा व्यवस्था जमीनी स्तर से कमजोर है और शिक्षा मंत्री अहंकार से ग्रस्त हैं

इस प्रकार सिसादिया भाजपा सरकार द्वारा संचालित सरकारी स्कूलों का दौरा करेंगे और स्कूल के मोर्चे पर भाजपा सरकार द्वारा अब तक किए गए कार्यों का जायजा लेंगे. सिसोदिया ने आगे कहा कि अगर बीजेपी ने गुजरात में स्कूल की स्थिति में सुधार के लिए अच्छा काम नहीं किया है, तो आप इस मामले को लोगों तक ले जाएगी गुजरात में युवाओं के लिए अच्छी शिक्षा और नौकरी की व्यवस्था अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में ही हो सकती है। उन्होंने कहा कि उनका मॉडल ही गुजरात के युवाओं का भविष्य सुधार सकता है।

मनीष सिसोदिया ने कहा कि गुजरात की शिक्षा व्यवस्था जमीनी स्तर से कमजोर है और शिक्षा मंत्री अहंकार से ग्रस्त हैं. ऐसे में आप इस राज्य के युवाओं की आवाज को आवाज देने का काम करेंगे.

गुजरात रामनवमी के जुलुस में हुयी हिंसा , हिम्मतनगर में धारा 144 लागू ,खंबात में एक की मौत