भाजपा में डॉक्टरों के बाद शामिल हुए प्राध्यापक

| Updated: May 13, 2022 6:08 pm

गुजरात भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में विभिन्न उच्च शिक्षण संस्थानों से जुड़े व्याख्याता , सहायक प्राध्यापक और प्राध्यापक भाजपा में शामिल हुए। 8 विभिन्न विश्वविद्यालयों के लगभग 250 प्रोफेसरों ने आज प्रदेश अध्यक्ष श्री सी.आर. पाटिल और राज्य भाजपा के महासचिव प्रदीपसिंह वाघेला की उपस्थिति में भगवा दुपट्टा और टोपी पहनकर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए। इसके पहले डॉक्टर शामिल हो चुके हैं।

भाजपा प्रवक्ता डॉ यग्नेश दवे ने बताया कि शामिल होने वाले में प्रो. डॉ. जयवंत सिंह सरवैया, हेमचंद्राचार्य उत्तर गुजरात विश्वविद्यालय पाटण के प्रोफेसर डॉ. कमलेश पटेल, सौराष्ट्र विश्वविद्यालय के डॉ. कृपालसिंह परमार ,डॉ. नरसिंह डोडिया ,गुजरात विश्वविद्यालय के डॉ. आरएस पटेल सहित प्रोफेसर शामिल हुए। समारोह को संबोधित करते हुए शिक्षा प्रकोष्ठ के संयोजक महेन्द्र पडलिया ने कहा कि आज बड़ी संख्या में प्रोफेसर भाजपा में शामिल हुए हैं। भाजपा सरकार हमेशा शिक्षकों के हितों के लिए चिंतित रहती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश बहुत प्रगति कर रहा है। प्रधानमंत्री चिंता है कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार की हर योजना अंतिम आदमी तक पहुंचे ।

कोरोना काल में नई शिक्षा नीति की घोषणा की गई है और लगभग ढाई लाख लोगों की राय से शिक्षा नीति बनाई गई है। नई शिक्षा नीति बहुत अच्छी तरह से बनाई गई है और नई शिक्षा नीति का कोई विरोध नहीं है। नई शिक्षा नीति जल्द ही लागू की जाएगी। नई शिक्षा नीति से भविष्य के भारत की नींव और मजबूत होगी। देश की भावी पीढ़ी को तैयार करने में शिक्षकों की भूमिका अहम है। उन्होंने आगामी विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की जीत के लिए कड़ी मेहनत करने का संकल्प लिया।

कार्यक्रम में क्षेत्र के महासचिव प्रदीपसिंह वाघेला,महेंद्रभाई पडलिया, मनुभाई पवार, शिक्षणसेल के समन्वयक, जयरसिंह परमार, भाजपा नेता और विभिन्न विश्वविद्यालयों के प्रोफेसरों ने बड़ी संख्या में भाग लिया।

गुजरात चुनाव पर फिर से चिंतन मोड में आई बीजेपी

Your email address will not be published.