हार्दिक की नाराजगी के बाद कांग्रेस में बनेगे और 3 कार्यकारी प्रदेश प्रमुख

| Updated: April 15, 2022 7:11 pm

  • हार्दिक के भी सुर पड़े नरम
  • कोली ,क्षत्रिय,हरिजन को कार्यकारी प्रदेश प्रमुख में मिलेगी जगह
  • 182 विधानसभा के लिए बनेगे 182 सचिव , सहसचिव
  • 10 प्रवक्ताओं की भी होगी नियुक्ति

गुजरात कांग्रेस में हार्दिक पटेल की नाराजगी के बाद कांग्रेस ने सबको खुश करने का मन बना लिया है , जिसके तहत प्रदेश कांग्रेस में लगभग 300 से अधिक नेताओ को जगह दी जायेगी। जिसमे सभी समाज ,क्षेत्र को जगह दी जाएगी कांग्रेस पार्टी द्वारा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर संगठन की नियुक्ति की जा रही है।हालांकि यह निर्णय पहले ही कर लिया गया था लेकिन अब इसमें कुछ आंशिक बदलाव किये गए है। खासतौर से 3 अतिरिक्त कार्यकारी प्रमुख का समावेश बदली हुयी परिस्थिति के लिहाज से किया जा रहा है।

वही दूसरी ओर हार्दिक पटेल के सुर भी नरम पद गए हैं। उन्होंने एक ट्ववीट कर सब ठीक होने का संकेत दिया। उन्होंने दिंवगत शायर राहत इंदौरी का शेर “अफवाह थी की मेरी तबियत ख़राब हैं, लोगो ने पूछ पूछ के बीमार कर दिया।” को ट्वीट कर यह जताने की कोशिश की कि सब ठीक है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस पार्टी जल्द ही प्रदेश कांग्रेस संगठन के पार्ट-2 की घोषणा करेगी. इसमें 182 सचिव, संयुक्त सचिव, 10 प्रवक्ता और जीपीसीसी के आमंत्रित सदस्य होंगे।

एक तरफ कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने नाराजगी जताई है। वहां कांग्रेस पार्टी तीन नए कार्यवाहक अध्यक्षों की नियुक्ति कर सकती है। कार्यवाहक अध्यक्ष में कोली समाज, क्षत्रिय समाज और दलित समाज के युवा चेहरों को जगह दी जाएगी।

संगठन पार्ट-2 में 182 मंत्री होंगे

कांग्रेस संगठन पार्ट-2 में 182 मंत्री होंगे। उन्हें क्षेत्र स्तर से प्रति विधानसभा सीट की जिम्मेदारी दी जाएगी। इसके अलावा 10 प्रवक्ता और आमंत्रित सदस्य होंगे। मंत्री एक सचिव के साथ एक संयुक्त सचिव की भी नियुक्ति करेंगे।

विधानसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस का नया संगठन जंबो होगा। इसमें सभी जिला व समाज के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

सभी 182 मंत्रियों को विधानसभा सीटों का प्रभारी बनाया जाएगा.इससे पहले कांग्रेस पार्टी ने उपाध्यक्ष और महासचिव की घोषणा की थी.

जिसमें से 26 लोकसभा सीटों पर एक उपाध्यक्ष और एक महासचिव प्रभारी होंगे।

इसके अलावा, अन्य महासचिव शहर और जिले के प्रभारी होंगे।प्रत्येक विधानसभा के सचिव उम्मीदवार चयन के लिए एक रिपोर्ट तैयार करेंगे।

जो लोकसभा प्रभारी के पास जाएगा।

चार सह- प्रभारी हैं जो प्रति जोन प्रभारी होंगे

चार सह-प्रभारी हैं जो प्रति जोन प्रभारी होंगे। उनके पास प्रत्याशी की रिपोर्ट होगी।

गौरतलब है कि कुछ नेता संगठन में उचित स्थान न मिलने से निराश हैं या अपने समर्थकों को संगठन में जिम्मेदारी लेने के लिए प्रेरित कर रहे हैं.

फिर विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पूरे समाज और क्षेत्र को संगठन में शामिल करने की कोशिश करेगी.

कांग्रेस में मेरी हालत नवविवाहित की तरह जिसकी नसबंदी कर दी गयी हो -हार्दिक पटेल

Your email address will not be published.