सड़क पर गाय: गलती इंसान करता है, इसलिए गाय को माफ कर दें

| Updated: October 4, 2022 10:45 am

अहमदाबाद: गुजरात हाई कोर्ट भले चाहता हो कि मवेशियों की समस्या सड़कों से हट जाए, लेकिन ऐसा होता नजर नहीं आ रहा। ऐसे में सड़क पर गाय की वजह से हुई दुर्घटना में बाइक पर पीछे बैठे शख्स की मौत की जिम्मेदारी बाइक चलाने वाले  ने अपने ऊपर ले ली है। खेड़ा के इस व्यक्ति की बाइक को दौड़ती हुई एक गाय ने टक्कर मार दी थी।

23 वर्षीय राहुल वंजारा ने खेड़ा के टाउन थाने में अपने खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। मरने वाला व्यक्ति 37 वर्षीय उसके चचेरे भाई हसमुख वंजारा थे। दोनों खेड़ा शहर के वंझारवास के हैं। एफआईआर के अनुसार, दोनों शनिवार दोपहर खेड़ा कस्बे के पारा दरवाजा के पास अपने ऑफिस गए थे। बाद में दोनों चाय पीने के लिए पास के बाजार में चले गए। मोटरसाइकिल राहुल चला रहा था, जबकि हसमुख पीछे बैठ गए।

राहुल की एफआईआर में कहा गया है, “मैं ही लापरवाही से काफी स्पीड में बाइक चला रहा था। एक मोड़ के पास अचानक एक गाय दौड़ती हुई मेरी ओर आई। गाय को बचाने के प्रयास में मैंने अपनी बाइक से कंट्रोल खो दिया। मैं सड़क के पास झाड़ियों पर गिर गया और मुझे चोटें आईं।” एफआईआर में आगे कहा गया है: “मेरे चचेरे भाई सड़क पर गिर गए और उनके सिर में गंभीर चोटें आ गईं।”

राहुल ने कहा कि हसमुख कुछ सेकंड के लिए खड़े हुए और फिर गिर गए। इससे उन्हें और अधिक चोटें आईं। एफआईआर में कहा गया है, “मैंने 108 एम्बुलेंस सेवा को फोन किया। एम्बुलेंस के साथ आई मेडिकल टीम ने हसमुख को मृत घोषित कर दिया।”

गाय को कैसे कह सकते हैं जिम्मेदारः

एक मेडिको-लीगल केस दर्ज कर पुलिस ने दुर्घटना स्थल का निरीक्षण किया। राहुल ने कहा, “मैंने पुलिस को बताया कि बाइक के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद गाय भाग गई थी। जानवर को खुले में घूमने देने में उसके मालिक की गलती थी। लेकिन गाय या उसके मालिक को दुर्घटना के लिए कानूनी रूप से कैसे जिम्मेदार ठहराया जा सकता है?” उन्होंने कहा: “मैं बाइक चला रहा था, इसलिए यह मेरी लापरवाही थी, जिसके कारण मेरे चचेरे भाई की मौत हो गई। इसलिए, मैंने अपने खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।” पुलिस ने मृतक को एकमात्र गवाह के रूप में नामित किया है और राहुल के खिलाफ लापरवाही और तेज गति से गाड़ी चलाने से मौत का मामला दर्ज कर लिया है।

Also Read: हिमाचल में पीएम के कार्यक्रम को कवर करने के लिए पत्रकारों को देना होगा चरित्र प्रमाणपत्र

Your email address will not be published. Required fields are marked *